भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की नर्मदा परिक्रमा के समापन का कांग्रेस नेता बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। छह महीने पहले शुरू हुई इस परिक्रमा के दौरान सिंह को कई लोगों ने नर्मदा नदी से जुड़े दस्तावेज दिए हैं जिनका डॉक्यूमेंटेशन किया जा रहा है। परिक्रमा समाप्त होने के बाद दिग्विजय सिंह नर्मदा घोटाले का खुलासा करेंगे।

यह बात मप्र विधानसभा परिसर में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने पत्रकारों से बातचीत में कही। 30 सितंबर से दिग्विजय सिंह की नर्मदा परिक्रमा की शुरुआत हुई थी। सिंह ने कहा उन्होंने परिक्रमा शुरू होने के पहले ही कह दिया था कि परिक्रमा पूरी होने तक राजनीति या अन्य कोई भी बात नहीं करेंगे। मगर परिक्रमा के दौरान नर्मदा किनारे की बस्तियों और नर्मदा नदी के संरक्षण से जुड़ी संस्थाओं व लोगों ने उनसे मुलाकातें की थीं। अलग-अलग जगहों पर इन लोगों ने दिग्विजय सिंह को कई दस्तावेज सौंपे।

परिक्रमा में मिले दस्तावेजों का डॉक्यूमेंटेशन

 

नेता प्रतिपक्ष ने दावा किया कि लोगों और संगठनों से मिले दस्तावेजों का डॉक्यूमेंटेशन हुआ है। इस डॉक्यूमेंटेशन के आधार पर दिग्विजय सिंह नर्मदा परिक्रमा को समाप्त करने के कुछ दिन बाद किन-किन स्थानों पर नर्मदा नदी के अवैध उत्खनन से बुरे हालात हैं तो पौधरोपण का विश्व रिकॉर्ड बनाए जाने के दावे की पोल खोली जाएगी।

व्यापमं घोटाले की तर्ज पर नर्मदा घोटाले को उठाने की तैयारी

 

गौरतलब है कि पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने व्यापमं घोटाले की लड़ाई की भी शुरुआत की थी। व्हिसल ब्लोअर्स के साथ मिलकर व्यापमं घोटाले के दस्तावेजों को एकत्रित किया और दस्तावेजों की विभिन्न लैब से जांच कराने के बाद पर्दाफाश किया था।