भोपाल। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को बड़ा तोहफा दिया। उन्होंने ऐलान किया कि बिना जांच के किसी को भी नहीं हटाया जाएगा। एक कागज से मनमर्जी से हटा देते हैं, ऐसा नहीं होगा। कार्यकर्ताओं को अब यात्रा भत्ता भी मिलेगा, मानदेय बढ़ाकर 10 हजार रुपए करने की घोषणा की गई और सहायिकाओं का 5 हजार रुपए किया गया। सीएम ने कहा कि महिला सशक्तिकरण मेरी जिंदगी का लक्ष्य है।

अच्छा काम करने वाली कार्यकर्ताओं को दीनदयाल प्रोत्साहन पुरस्कार भी दिया जाएगा। सीएम ने रिटायरमेंट की उम्र भी 60 से 62 वर्ष करने की घोषणा की। इसी के साथ आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को रिटायरमेंट पर एक लाख रुपए भी मिलेंगे। मृत्यु पर परिवार को दो लाख रुपए दिए जाएंगे। आंगनबाड़ी कर्मचारियों की बेटियों को चयन में 10 अंक भी दिए जाएंगे।

एंट्री नहीं मिलने पर किया हंगामा

आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के कार्यक्रम में एंट्री नहीं मिलने की वजह से उन्होंने जमकर हंगामा किया। कार्यकर्ताओं ने कहा कि हमें मैसेज मिला था कि 8 अप्रैल को कार्यक्रम में भोपाल पहुंचना है। जब यहां आए तो एंट्री नहीं दी गई। बताया गया है कि कार्यकर्ताओं को यह नहीं बताया गया था कि उन्हें यहां अपना पहचान पत्र लेकर पहुंचना है। जिनके पास पहचान पत्र नहीं था उन्हें एंट्री नहीं दी गई, इस पर जमकर हंगामा हुआ।

कुछ कार्यकर्ताओं ने कहा कि जब इंतजाम ही नहीं था तो इतने लोगों को क्यों बुलाया गया। इस बीच अंदर कार्यक्रम शुरू होने पर वे और भड़क गए। कुछ महिलाओं ने साड़ी जलाकर इसका विरोध किया। भरी गर्मी में महिलाएं सीएम हाउस के बाहर पानी पीने के लिए भटकती रहीं। उनका कहना था कि हमें बताया ही नहीं गया कि कार्ड लेकर यहां पहुंचाना है। गौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों से जारी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के विरोध के बाद अब उन्हें सीएम से उम्मीद है कि वे उनके लिए बड़ी घोषणा करेंगे।