इंदौर। केंद्र सरकार में कैबिनेट मंत्री के घर शादी हो तो जेहन में लाव-लश्कर और ठाठ-बाट का ख्याल आता है। इसके उलट केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचंद गेहलोत ने अपने सबसे छोटे बेटे जितेंद्र गेहलोत (आलोट विधायक) के बेटे देवेंद्र का विवाह 29 अप्रैल को ताल में आयोजित मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में करने का निर्णय लिया है। सामूहिक विवाह सम्मेलन में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान भी शिरकत कर वर-वधुओं को आशीर्वाद देंगे। साथ अन्य वरिष्ठ नेता एवं समाजजन भी शामिल होंगे। सामूहिक सम्मेलन को लेकर तैयारियां शुरू हो चुकी हैं

मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में होगी केंद्रीय मंत्री के पोते की शादी, CM देंगे आशीर्वाद

देवेंद्र का विवाह रतलाम की दिव्या मालवीय से तय हुआ है। दिव्या के परिवार में उनके पिता जगदीशचंद्र मालवीय, माता रेणु व छोटा भाई एकलव्य है। दिव्या फिलहाल बीएससी कर रही है। 29 अप्रैल को ताल के सामूहिक सम्मेलन में देवेंद्र और दिव्या अन्य पंजीकृत जोड़ों के साथ सात फेरे लेंगे।

मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में होगी केंद्रीय मंत्री के पोते की शादी, CM देंगे आशीर्वाद

 ताल में आयोजित सामूहिक विवाह समारोह दो दिन 28 व 29 अप्रैल को रहेगा। 28 अप्रैल को महिला संगीत और 29 अप्रैल को सात फेरों के साथ अन्य रस्में होंगी। सामूहिक विवाह सम्मेलन में शामिल होने के पहले माता पूजन, मंडप सहित अन्य रस्म केंद्रीय मंत्री के गृहनगर नागदा स्थित निवास पर होंगी।


सामूहिक सम्मेलन में समानता नजर आए इसके लिए बाकायदा वर-वधुओं के खाने से लेकर अन्य व्यवस्था एक जैसी होगी। जो केंद्रीय मंत्री के पोते के लिए व्यवस्था रहेगी, वही अन्य वर-वधुओं के लिए भी की जा रही है।

केंद्रीय मंत्री थावरचंद गेहलोत ने कहा आर्थिक रूप से सक्षम नहीं होने के बाद भी लोग शादियों पर कर्ज लेकर खर्च करते हैं। केंद्र और राज्य सरकारें इस कोशिश में हैं कि लोग जागरूक हों। मेरा मानना है कि सिर्फ भाषणों से बात नहीं बनेगी। जो नीति और नीतियों की बात करते हैं, उन्हें भी कुछ उदाहरण तो देना ही चाहिए। मेरे बेटे जितेंद्र गेहलोत जो आलोट से विधायक हैं, उनकी सोच को मेरा भी समर्थन है। 29 अप्रैल को ताल में आयोजित मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में पोते देवेंद्र का विवाह होगा।

मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में होगी केंद्रीय मंत्री के पोते की शादी, CM देंगे आशीर्वाद