रीवा। जो भारतीय जनता पार्टी महिला सशक्तिकरण कर महिलाओं का सम्मान करने का ढ़ोल पीटती है उसी भाजपा ने एक महिला जनप्रतिनिधि को ऐसे खून के आंसू पिलाए कि अंतत: उसे विवश होकर अपना इस्तीफा देना पड़ा ।  त्योथर जनपद पंचायत की अध्यक्ष गीता मांझी ने आज एक पत्रकार वार्ता में रीवा के सांसद जनार्दन मिश्रा पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि सांसद द्वारा उन्हें बात बेबात सार्वजनिक मंच पर न केवल अपमानित किया गया बल्कि प्रताडि़त भी किया गया। आरोप है कि सांसद ने इस बात का भी लिहाज नहीं किया कि जनपद पंचायत की अध्यक्ष जनप्रनिधि के साथ - साथ एक महिला भी हैं और कम से कम न्यूनतम मर्यादा का पालन तो किया ही जाना चाहिए था ।
पत्रकार वार्ता में लगाए आरोप
 त्योथर जनपद पंचायत अध्यक्ष गीता मांझी ने कहा कि क्षेत्रीय बिधायक के स्नेह से भाजपा का दामन थामी थी परन्तु रीवा के सांसद जनार्दन मिश्रा ने चन्द्र पुर घटेहा मार्ग भूमि पूजन अवसर पर जन समस्याओं को उठाने से उत्तेजित होकर  महिला होने का भी  लिहाज नहीं करते हुए अपमानित किया है । यह कोई पहली बार नहीं हुआ है इसके पहले भी ऐसी स्थिति पनप चुकी है  । जो पार्टी महिला सशक्तिकरण की बात करतीं हैं वही भाजपा महिलाओं की ईज्जत नहीं करती है,। इसी से क्षुभित होकर अपना त्याग पत्र हमने पार्टी  से दिया है ।
समस्या उठाने से बना विवाद
त्यागपत्र में आरोपित किया गया है कि एक जनप्रतिनिधि हाने के नाते उन्होंने मंच से पिछड़ों की स्थानीय समस्याओं का जिक्र किया था किंतु यह बात क्षेत्रीय सांसद को इतनी नगवार गुजरी कि उन्होंने सार्वजनिक रूप से उनका अपमान कर दिया ।   रीवा जिले के  जनपद पंचायत त्योंथर अध्यक्ष गीता माझी ने  बीजेपी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष को  अपना त्यागपत्र भेज दिया है । त्यागपत्र में आरोपित है कि रीवा सांसद जनार्दन मिश्र ने उन्हें बार- बार अपमानित किया । आराोप है कि उन्होंने क्षेत्र की समस्या को लेकर मांग उठाई थी , उसी को लेकर सांसद ने कई बार अपमानित किया । आज रीवा कॉफी हाऊस मे  पत्रकार वार्ता आयोजित कर सांसद जनार्दन मिश्रा के ऊपर आरोप नगाते हुए त्योथर जनपद पंचायत अध्यक्ष गीता मांझी ने अपना इस्तीफा दे दिया ।