भोपाल। एक ही स्कूल में एक ही क्लास में पढ़ने वाली चचेरी बहनों में से एक को दूसरे की काबिलियत से जलन होने लगी। इसी द्वेष के कारण उसने एक फर्जी फेस बुक आईडी बना ली। उसके माध्यम से वह अपनी चचेरी बहन को गालियां और अश्लील पोस्ट भेजने लगी। इतना ही नहीं उसने अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी भी दी। मानसिक रूप से टूट चुकी छात्रा ने साइबर पुलिस में शिकायत की। करीब 7 माह बाद पुलिस ने आरोपी को ढूंढ भी निकाला। लेकिन आरोपी बहन के नाबालिग होने के के साथ ही परिवार की बदनामी का हवाला देते हुए परिजनों ने कोई कार्रवाई करने से मना कर दिया।

एसपी साइबर क्राइम शैलेंद्र चौहान ने बताया कि 7 जून-17 को कोटरा सुल्तानाबाद निवासी एक छात्रा ने साइबर थाने में एक शिकायत दर्ज कराई थी। उसमें बताया कि कोई व्यक्ति फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर मुझे फेसबुक पर गंदी गालियां देता है। अश्लील वीडियो बनाकर फेसबुक पर वायरल की करने की धमकी देता है। साथ ही उसके निजी जीवन में घटित घटनाओं को फेसबुक पर मैसेज से बताकर मानसिक प्रताड़ित करता है।

उसे सताने वाले की तस्वीर देखकर सन्न रह गई छात्रा

छात्रा यह बात अपने परिजनों को भी नहीं बता पा रही थी। बेटी को परेशान देख एक दिन मां ने उससे पूछताछ की। इससे पूरी घटना सामने आई। सायबर पुलिस द्वारा संदिग्ध आईडी दिनेश साहनी के यूआरएल प्राप्त कर फेसबुक लीगल विभाग कैलीफोर्निया से साक्ष्य जुटाए गए। इसमें एक संदिग्ध आईडिया कम्पनी के मोबाइल का इस्तेमाल होना पाया गया। टीएसपी नोडल द्वारा मोबाइल नम्बर धारक की जानकारी जुटाई गई। प्राप्त की गई फरियादिया को बुलाकर जब मोबाईल नम्बर के धारक के फोटो की पहचान कराई गई तो छात्रा सन्ना रह गई। तस्वीर उसकी चाची की थी। साथ ही संबंधित मोबाइल नंबर चाची की लड़की द्वारा उपयोग करना पाया गया।