रीवा। पुलिस का दामन यूं तो भ्रष्टाचार, अत्याचार और निर्दोषों की पिटाई जैसे आरोपों से हमेशा दागदार रहा है, लेकिन अब खाकी वर्दीधारियों के चरित्र पर भी दाग लगने लगे हैं। दरअसल रायपुर कर्चुलियान थानाक्षेत्र निवासी सुरेश पांडेय ने शनिवार को एसपी ललित शाक्यवार से मिलकर क्षेत्र के थाना प्रभारी ओमेश मार्को पर चरित्र हीनता का आरोप लगाया है। उन्होंने थाना प्रभारी से अपनी पत्नी वापस दिलाने और उनके कहर से बचाने की गुहार लगाई है। शिकायत की गंभीरता को देखते हुए एसपी ने मामले की जांच एडिशनल एसपी को सौंप दी है। इधर टीआई ने अपने ऊपर लगे आरोपों को निराधार बताया है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि उसकी पत्नी के साथ न केवल टीआई के अवैध संबंध हैं बल्कि पत्नी के साथ मिलकर टीआई ने उसे फर्जी मामले में फंसा दिया है। ताकि वह घर पर न रहे और दोनों घर में ही मौज-मस्ती कर सकें। विभाग के ही जिम्मेदार अधिकारी पर यह आरोप सुन एसपी रीवा हैरत में पड़ गए। एसपी ने मामले की निष्पक्ष जांच कराने का भरोसा दिलाया है।

पोस्टिंग के बाद से ही टीआई का घर में बना है आना-जाना

सुरेश पाण्डेय का कहना है कि उनकी पत्नी का चरित्र चन्द्रकांता की तरह है। जब से ओमेश मार्को रायपुर कर्चुलियान के थाना प्रभारी बने हैं तब से उनके घर में उनका आना-जाना बना हुआ है। दोनों के बीच हुआ प्यार कब अवैध संबंध में तब्दील हो गया उसे पता ही नहीं चला। अचानक एक दिन उनके घर पुलिस पहुंची तो बताया कि तुम्हारी पत्नी ने तुम्हारे खिलाफ थाने में मामला दर्ज करा दिया है। जब वह पता करने थाने पहुंचा तो टीआई द्वारा उसके साथ गाली-गलौज की गई। बाद में पता चला कि उसके विरूद्घ तीन मामले दर्ज किए गए हैं। तीनों ही मामले एक पखवाड़े के अंदर दर्ज किए गए हैं।

दबिश के बहाने घर पर बिताते हैं घंटों का वक्त

बताया गया है कि कड़ाके की ठंड के बीच थाना प्रभारी दबिश के बहाने कभी भी घर पहुंच जाते हैं। दो-तीन घंटे समय गुजारने के बाद वापस लौट आते हैं। यह इसलिए भी किया जाता है ताकि वह घर न रह सके। आरोप है कि पीड़ित को थाना प्रभारी ने मानसिक रूप से परेशान कर रखा है। टीआई उसकी हत्या तक करा सकते हैं। पीड़ित ने टीआई के स्थानांतरण व निष्पक्ष जांच की मांग की है।

------------

मुझ पर लगाए गए आरोप निराधार हैं। पत्नी की रिपोर्ट पर मामला दर्ज है जो कि जांच में है। उसके पति ने मुझ पर क्या आरोप लगाए हैं यह मुझे नहीं पता।

-ओमेश मार्को, टीआई, रायपुर कर्चुलियान।

मेरे संज्ञान में मामला आया है। आवेदन देखने के बाद मैंने जांच के निर्देश दे दिए हैं। मामले की जांच एडिशनल एसपी आशुतोष गुप्ता करेंगे। जांच पूरी होने के बाद ही मामले की सच्चाई सामने आएगी।

-ललित शाक्यवार, एसपी, रीवा।