रीवा। सम्पत्ति विवाद को लेकर रविवार दोपहर लगभग 12 बजे सिविल लाइन थानाक्षेत्र के जय स्तम्भ में दो पक्ष आपस में भिड़ गए। घर से शुरू हुआ विवाद शहर के मुख्य मार्ग तक पहुंच गया। जहां दोनों पक्ष के लोग डंडा और तलवार सहित अन्य औजार लेकर एक-दूसरे पर हमला करते रहे। कुछ लोगों ने पत्थर चलाकर घर में तोड़फोड़ भी की है। सूचना मिलने पर सिविल लाइन पुलिस सहित एएसपी घटना स्थल पहुंचे। जहां से दोनों पक्षों को थाने ले जाया गया। दोनों की शिकायत पर पुलिस जांच कर रही है।

पैतृक मकान में कब्जा करना चाहते हैं दोनों पक्ष

जयस्तम्भ में निर्मित वर्षो पुराना शंकरलाल पाण्डेय के घर और उसकी सम्पत्ति को लेकर एक पक्ष से मनोज पाण्डेय और अंजनी पाण्डेय अपना दावा कर रहे हैं। जबकि दूसरे पक्ष से अनिल पाण्डेय उसकी पत्नी ज्ञानवती पाण्डेय और पुत्र रूपेश अपना दावा करते हुए घर पर अधिपत्य करना चाहते हैं। दोनों ही पक्षों द्वारा सम्पत्ति में कब्जा करने को लेकर विवाद होने लगा और मामला खूनी संघर्ष में बदल गया। गनीमत रही कि आसपास के लोग मामले को आगे आए और पुलिस को भी इसकी सूचना दे दी। जिसके चलते मारपीट का यह मामला शांत हो पाया।

सड़क पर बैठकर लगाया जाम

विवाद और मारपीट की घटना के बाद मनोज पाण्डेय पक्ष के लोगों ने जय स्तम्भ शहर के मुख्य मार्ग में बैठ गए और दूसरे पक्ष के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की मांग को लेकर जाम लगा दिया। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने उन्हें समझाइश दी कि इस विवाद मामले की सुनवाई दोनों पक्ष से की जाएगी और सम्पत्ति का जो असली मालिक होगा उसके पक्ष में न्याय किया जाएगा। वहीं मारपीट मामले में दोनों पक्षों की पुलिस सुनवाई करने के साथ ही जिस तरह से चोट लगी है उस आधार पर मुकदमा दर्ज करने की समझाइश दी। बताया जा रहा है कि शंकरलाल पाण्डेय द्वारा बहु मंजिला घर और सम्पत्ति बनाई गई थी। जिसमें उसके परिवार से ही जुड़े दोनों पक्ष के लोग अपना-अपना दावा कर रहे हैं।

-------------

विवाद का मामला सामने आया था। दोनों पक्षों को समझाइश दी गई है। उनकी शिकायत और चोट के आधार पर मामला दर्ज किया जाएगा। स्थिति सामान्य है।

-आशुतोष गुप्ता, एएसपी।