श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर में बना एशिया का सबसे बड़ा ट्यूलिप गार्डन सैलानियों के लिए खोल दिया गया है। जबरवान की पहाड़ियों के बीच बने इस गार्डन में हर साल की तरह इस साल भी लाखों सैलानियों के आने की उम्मीद है। इस बार यह गार्डन 2 सप्ताह पहले ही 15 मार्च को खोल दिया गया है।

यह गार्डन श्रीनगर के कई बगीचों में से फेमस बगीचा है। गार्डन कुल 90 एकड़ के बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। फूलों के मौसम में इस बगीचे में कम से कम 13 लाख ट्यूलिप बल्‍ब एक बार में खिलते हैं। यह गार्डन, शालीमार गार्डन, निशात बाग, चश्‍म-ए-शाही गार्डन और अन्‍य मुगल गार्डन के पास ही स्थित है। इस बगीचे में प्रवेश शुल्क 50 रुपए है। बच्‍चों के लिए 20 रुपए शुल्क है।

इस गार्डन को देखने के लिए देश ही नहीं, मलेशिया, थाईलैंड, यूरोप समेत दुनियाभर से भी पर्यटक आते हैं। इस गार्डन में कई फिल्मों और सीरियलों की शूटिंग भी हो चुकी है। साल 2008 में बॉलीवुड फिल्म सदियां की यहां पर शूटिंग हो चुकी है। अप्रैल 2013 में इस गार्डन में महाभारत सीरियल की शूटिंग की गई थी।

वर्ष 2008 में एशिया के इस सबसे बड़े ट्यूलिप गार्डन का उद्घाटन किया गया था। इस गार्डन को बनवाने का श्रेय जम्मू-कश्मीर के तत्कालीन मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद को जाता है। डल झील के किनारे जबरवान पहाडि़यों की चोटियों पर स्थित इंदिरा गांधी ट्यूलिप गार्डन बेहद आकर्षक और लुभावना है। हर साल 7 दिन तक यहां ट्यूलिप समारोह चलता है, जिसमें 70 किस्‍मों से ज्‍यादा ट्यूलिप देखने को मिलते हैं। सिराज बाग के नाम वाले इस गार्डन को 2008 में ट्यूलिप गार्डन के तौर पर विकसित किया गया था।