गुवाहाटी असम के तिनसुकिया में सैन्य बलों ने मंगलवार को बड़ा आतंकी हमला नाकाम कर दिया. एक सैन्य ऑपरेशन में प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन यूनाइटेड लिबरेशन फ्रंट ऑफ असम (उल्फा) के हार्डकोर उग्रवादी को गिरफ्तार किया गया. उसके कब्जे से 10 किलो विस्फोटक बरामद किया गया है. इसी के साथ सैन्य बलों ने एक बड़े आतंकी हमले की योजना को विफल कर दिया है.

हाथ लगी बड़ी कामयाबी
खुफिया जानकारी मिलने के बाद सेना और तिनसुकिया पुलिस ने चिक्राजन में जगह जगह गाड़ियों की सघन चेकिंग शुरू की. चेक प्वाइंट्स पर कई मोबाइल गाड़ियां तैनात की गईं. इस दौरान सैन्य बलों को बड़ी कामयाबी हाथ लगी और सेना और पुलिस की संयुक्त टीम ने स्वयंभू सार्जेंट सब्दो असोम उर्फ जोनकी बोरा को गिरफ्तार कर लिया. इस ऑपरेशन में संयुक्त टीम ने काफी मात्रा में विस्फोटक, हथियार, डेटोनेटर और रिमोट कंट्रोल बरामद किए. विस्फोटक के बारे में बताया जा रहा है कि यह बेहद खतरनाक और जानलेवा केमिकल टीएटी है. इसकी मात्रा 10 किलो बताई जा रही है.

बड़े हमले की फिराक में उग्रवादी
सेना के एक आला अधिकारी ने 'इंडिया टुडे' को बताया कि उल्फा-आई की तरफ से प्रदेश में किसी बड़े हमले का इंटेलिजेंस इनपुट काफी दिनों से मिल रहा था. इनपुट में कहा गया था कि उल्फा आतंकी ऊपरी असम में सेना पर बड़ा हमला करने की फिराक में हैं ताकि फिर से वे अपना दबदबा जता सकें. हालांकि उल्फा उग्रवादी बोरा की गिरफ्तारी से आतंकियों के नापाक मंसूबे नाकाम हो गए और इसी के साथ सेना ने एक बड़े हमले को टाल दिया.

सेना का अभियान जारी
भारतीय सेना ऊपरी असम में कई दिनों से उल्फा-आई के खिलाफ मोर्चा खोले हुए है. इतनी बड़ी मात्रा में हथियारों और विस्फोटकों की बरामदगी और हार्डकोर उग्रवादी की गिरफ्तारी उल्फा की कमर तोड़ने में मददगार बताई जा रही है. सैन्य ऑपरेशन ने उग्रवादियों की नाक में दम कर रखा है जिससे स्थानीय लोगों को काफी राहत मिल रही है.