बिलासपुर । मोरिया रे बप्पा मोरिया रे..., एक, दो, तीन, चार गणेश जी की जय-जयकार...जैसे गाने गाते हुए भगवान गणेश की प्रतिमाओं का विसर्जन श्रद्धालु कर रहे है। बुधवार को भी भगवान गणेश के विसर्जन का सिलसिला चलता रहा। छठ घाट, पचरीघाट, कोनी अरपा नदी के घाट, शिव घाट सहित शहर के अलग-अलग विसर्जन स्थलों पर भक्त भगवान की प्रतिमा को विसर्जन कर रहे है।
गणेशोत्सव समापन की ओर है लोग वैदिक विधियों से पूजन के बाद उत्साह से भगवान गणेश की प्रतिमाओं का विसर्जन कर पूजन को पूर्ण कर रहे है। चारों तरफ भगवान गणेश के नाम का जयघोष करते हुए बच्चे-बड़े सभी उत्साह से प्रतिमाओं का विसर्जन करने के लिए पहुंच रहे है। नाचते-गाते हुए भगवान से अगले बरस जल्दी आने के लिए कह रहे है। साथ ही साथ जीवन में सुख-समृद्धि प्रदान करने आशीर्वाद मांग रहे है। 
नदियों के तट पर बच्चे कर रहे प्रतिमा विसर्जन में सहयोग
भगवान गणेश की प्रतिमाओं का विसर्जन करने के लिए लोगों का सहयोग बच्चे कर रहे है। जिससे जो लोग तैर नही पाते वे भी नदियों में भगवान की प्रतिमाओं को विसर्जित कर रहे है। बच्चे पानी में छलांग लगाकर भगवान गणेश की प्रतिमाओं को नदी के बीचों बीच छोड़ रहे है।
० विसर्जन स्थल में गूंज रहा जयघोष
विसर्जन स्थल पर एक नहीं कई जगहों से भगवान गणेश की प्रतिमाओं का विसर्जन करने के लिए लोग पहुंच रहे है। जिसके कारण पूजन की विधि पूरी कर भगवान की प्रतिमा को विसर्जित किया जाता है। इस वजह से विसर्जन स्थल में गणपति के नाम व जयकारे की गूंज सुनाई देती रही।
० नाचते-गाते पहुंच रहे विसर्जन करने
भगवान गणेश की प्रतिमाओं को विसर्जन करने के लिए सभी उत्साहित है सभी भगवान गणेश की जय घोष करते हुए भक्तिम लीन होकर नाच रहे है। ताशे व ढोल के भक्तिमय धुनों पर श्रद्धालु नाचते हुए विसर्जन स्थल पहुंच रहे है।