भोपाल । नगर निगम आयुक्त विजय दत्ता ने प्रेमपुरा विसर्जन घाट पर निगम द्वारा की गई सभी व्यवस्थाओं का जायजा लिया और सभी व्यवस्थाएं विसर्जन समाप्ति तक चाक-चौबंद रखने, श्रद्धालुओं को विसर्जन में पूर्ण सहयोग प्रदान करने के निर्देश दिए साथ ही प्रेमपुरा विसर्जन घाट पर प्लास्टर ऑफ पेरिस से बनी मूर्तियों के सुरक्षित विसर्जन हेतु केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के सहयोग से निगम द्वारा बनाए गए विशेष पात्र का एवं प्रतिमा विसर्जन की प्रक्रिया का अवलोकन भी किया।   
नगर निगम आयुक्त विजय दत्ता ने गुरूवार को रात्रि में प्रेमपुरा घाट पहुंचकर निगम द्वारा की गई व्यवस्थाओं एवं पी.ओ.पी. की मूर्तियों के विसर्जन हेतु विशेष कुण्ड का जायजा लिया एवं नगर निगम तथा केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों से चर्चा की। निगम आयुक्त ने विसर्जन घाट, विसर्जन कुण्ड एवं विसर्जन घाट पर बनाए गए कंट्रोल रूम आदि का निरीक्षण किया। निगम आयुक्त ने साफ-सफाई, पेयजल, प्रकाश आदि सहित नागरिकों की सुरक्षा एवं सहयोग हेतु तैनात स्टॉफ की व्यवस्था को विसर्जन समाप्त होने तक पूरी तरह से मुस्तैद रखने के निर्देश दिए। निगम आयुक्त श्री दत्ता ने कहा कि निगम के सभी अधिकारी, कर्मचारी श्रद्धालुओं का बेहतर ढंग से मार्गदर्शन करें और यथा स्थान प्रतिमाओं का विसर्जन कराए। इस दौरान अपना व्यवहार भी संयमित रखे। श्री दत्ता ने निर्देशित किया कि विसर्जन के दौरान किसी भी प्रकार की कठिनाई नहीं होना चाहिए। 
केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों ने निगम आयुक्त विजय दत्ता को अवगत कराया कि पी.ओ.पी. से बनी मूर्तियां जो पानी में नहीं घुलती है के विसर्जन के लिए विशेष रूप से तैयार रासायनिक घोल से मूर्तियों का अभिषेक किया जा रहा है। पी.ओ.पी. की मूर्तियां इस घोल में घुल जाएंगी और इससे केल्शियम कार्बोनेट के रूप में गाद प्राप्त होगी जो चाक, खड़िया बनाने के उपयोग में ली जाएगी और इसका जो पानी बचेगा वह फर्टीलाइजर के रूप में उद्यानों में उपयोग किया जा सकेगा।