लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने कहा कि 'शुद्ध के लिये युद्ध' अभियान में अधिकारी पारदर्शिता रखें। मंत्री श्री सिलावट ने मैदानी अधिकारियों की समस्याएँ सुनीं और सुझाव भी लिए। मंत्री श्री सिलावट आज खाद्य एवं औषधि प्रशासन के इन्सपेक्टर्स एवं जिला अधिकारियों की बैठक को एन.एच.एम. कार्यालय में संबोधित कर रहे थे। नियंत्रक खाद्य एवं औषधि प्रशासन श्री रविन्द्र सिंह तथा संयुक्त नियंत्रक श्री डी. के. नागेन्द्र भी उपस्थित थे।

मंत्री श्री सिलावट ने कहा कि 19 जुलाई से शुरू हुए 'शुद्ध के लिये युद्ध' अभियान में मिलावट-खोरों के खिलाफ हुई कार्रवाई का असर दिखने लगा है। उन्होंने कहा कि खाद्य एवं औषधि प्रशासन के इन्सपेक्टर्स एवं जिला अधिकारी अभियान में पूरी पारदर्शिता रखें। मंत्री श्री सिलावट ने कहा कि अब तक दूध, अन्य दुग्ध उत्पाद एवं खाद्य वस्तुओं के 4000 सेम्पल लिए गए। इनमें से 1300 सेम्पल की जाँच हो चुकी है। मिलावटखोरों के खिलाफ 69 एफआईआर की गईं हैं। अभियान के दौरान अब तक 16 मिलावटखोरों के विरूद्ध एन.एस.ए. में कार्रवाई की गई है।