इस्लामाबाद । कश्मीर मुद्दे पर कई देशों में मुंह की खाने के बाद पाक पीएम इमरान खान को अब सऊदी अरब और यूएई की ओर रुख किया हैं। इमरान ने सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के विदेश मंत्रियों के साथ कश्मीर मुद्दे पर चर्चा की। सऊदी अरब के विदेश मंत्री अब्देल बिन अहमद अल-जुबैर और संयुक्त अरब अमीरात के विदेश मंत्री शेख अब्दुल्ला बिन जायद बिन सुल्तान अल-नाह्यान पाकिस्तान पहुंचे। सऊदी के विदेश मंत्री अदेल बिन अहमद अल-जुबैर और यूएई के विदेश मंत्री शेख अब्दुल्ला बिन जायद बिन सुल्तान अल-नाह्यान ने पाकिस्तान के लिए एक ही विमान से यात्रा की। दोनों देशों के बीच तनाव की खबरों के बीच यह एक सांकेतिक प्रयोग था। दोनों देशों की ओर से अपनी एकजुटता दिखाने के लिए सांकेतिक तौर पर एक ही विमान में सफर का प्रयोग किया गया।
पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने उनकी अगवानी की। खान ने कहा कि सऊदी अरब और यूएई सहित पूरी दुनिया को कश्मीर पर लिए गए भारत के हालिया निर्णय को पलटने का नई दिल्ली से अनुरोध करने में भूमिका निभानी चाहिए। खान के कार्यालय से जारी एक बयान में कहा गया, ‘दोनों देश मौजूदा चुनौतियों का समाधान करने, तनाव को कम करने और शांति और सुरक्षा के माहौल को बढ़ावा देने में मदद करने में सहयोग करेंगे।' दोनों मंत्री विदेश कार्यालय भी गए और उन्होंने कुरैशी के साथ एक विस्तृत बैठक की, जिन्होंने उन्हें कश्मीर की ताजा स्थिति के बारे में उन्हें जानकारी दी। दोनों मंत्री सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा से भी मुलाकात कर सकते हैं। सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के विदेश मंत्रियों की यह यात्रा भारत और पाकिस्तान के बीच कश्मीर मुद्दे को लेकर तनाव के बीच हो रही है। कश्मीर के मामले में अतंरराष्ट्रीय जगत से कुछ खास सहयोग नहीं मिलने के बाद भी पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। बुधवार को पाक आर्मी चीफ ने रावलपिंडी में कहा, 'कश्मीर में शांतिपूर्ण समाधान की सभी कोशिशें नाकाम होने के बाद भी हमारा संघर्ष जारी रहेगा। कश्मीर के लिए हमारा आखिरी सिपाही अपनी अंतिम गोली तक संघर्ष करेगा।'