नई दिल्ली : ऑटो और बैंकिंग सेक्टर के लिए राहत पैकेज का ऐलान किए जाने के बाद अब सरकार की तरफ से रियल एस्टेट सेक्टर पर बड़े ऐलान की उम्मीद की जा रही है. सूत्रों के अनुसार इस हफ्ते रियल एस्टेट सेक्टर के लिए सरकार की तरफ से राहत पैकेज की घोषणा किए जाने की उम्मीद है. सूत्रों की मानें तो सरकार हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों के लिए अतिरिक्त पूंजी की घोषणा भी कर सकती है.

8000 करोड़ रुपये के फंड की घोषणा होने की उम्मीद
रियल एस्टेट सेक्टर को गति देने के लिए सरकार बैंकों से डेवलपर्स को मिलने वाले लोन के नियमों में रियायत दे सकती है. अटके हुए प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए एकमुश्त फंड का ऐलान भी सरकार की तरफ से किया जा सकता है. सूत्रों का दावा है कि कई साल से अटके हुए रियल एस्टेट प्रोजेक्ट् को पूरा करने के लिए सरकार 8000 करोड़ रुपये तक के फंड की घोषणा की जा सकती है. यदि सरकार की तरफ से यह घोषणा की जाती है तो रियल एस्टेट सेक्टर को राहत मिलने की उम्मीद की जा रही है.

5 लाख खरीदारों के घर अटके हुए
अभी देशभर में 5 लाख खरीदारों के घर अटके हुए प्रोजेक्ट्स में फंसे हुए हैं. सरकार लगातार अफोर्डेबल हाउसिंग पर फोकस कर रही है. सरकार की तरफ से राहत पैकेज का ऐलान किया जाता है तो अफोर्डेबल हाउसिंग का दायरा बढ़ाए जाने की भी उम्मीद है. सरकार की तरफ से शहरों में अफोर्डेबल हाउसिंग का दायरा 45 लाख रुपये से बढ़ाकर 70 लाख रुपये तक किए जाने की उम्मीद है.

अफोर्डेबल हाउसिंग का दायरा बढ़ने से ज्यादा प्रोजेक्ट शामिल होंगे. ऐसी भी उम्मीद है कि सरकार हाउसिंग फाइनेंस से जुड़ी सबवेंशन स्कीम से जुड़ा ऐलान भी कर सकती है. बैंक और ऑटो सेक्टर के बाद रियल एस्टेट सेक्टर पर एलान होंगे. आपको बता दें सरकार ने पिछले दिनों बैंक और ऑटो सेक्टर के लिए राहत पैकेज की घोषणा की गई है.