रायपुर। गृह, जेल, लोक निर्माण, पर्यटन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री ताम्रध्वज साहू ने पालकों से आह्वान करते हुए कहा कि वे अपने बच्चों को पाश्चात्य सभ्यता और संस्कृति, भौतिकतावादी जीवन से दूर रखें और उन्हें छत्तीसगढ़ी तथा भारतीय संस्कृति की शिक्षा दें।
वे आज रायपुर के शहीद स्मारक भवन में आयोजित मिनीमाता स्मृति दिवस समारोह को मुख्य अतिथि की आसंदी से संबंधित कर रहे थे। इस अवसर पर नगरीय प्रशासन एवं विकास,श्रम मंत्री श्री शिव डहरिया, खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण, संस्कृति, योजना, आर्थिक एवं सांख्यिकी मंत्री डॉ. अमरजीत सिंह भगत सहित अन्य जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक मौजूद थे।
गृहमंत्री श्री साहू ने मिनी माता की सोंच, मानवता के प्रति संवेदनशील सिद्धांत और उनके बताए मार्ग पर चलने का आह्वान करते हुए कहा कि सभी पालक अपने पुत्र और पुत्रियों के प्रति समदर्शी भाव रखें। उन्हें शिक्षा और विकास का समान अधिकार और अवसर उपलब्ध करायें।
गृहमंत्री ने मिनीमाता के बताए मार्ग पर चलने  और उनके समाज सेवा के कार्यों को अक्षुण्ण बनाए रखने के साथ ही सेवा भावी महिलाओं को सम्मानित करने की आवश्यकता बताई। उन्होंने सतनामी समाज की मांगों को जायज ठहराते हुए उन्हें पूरा करने सकारात्मक कार्रवाई का आश्वासन दिया।