नई दिल्ली । रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने निजी क्षेत्र की रक्षा कंपनियों से कहा कि वे मित्र राष्ट्रों को निर्यात बढ़ाने की दिशा में काम करें। उन्होंने कहा इसकी प्रक्रिया आसान बना दी गई है। सिंह ने ‘रक्षा क्षेत्र में मेक इन इंडिया’ विषय पर आयोजित गोलमेज बैठक में रक्षा तथा विमानन क्षेत्र की अग्रणी कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों से कहा कि उनके पास निर्यात के साथ ही घरेलू बाजार में योगदान देने के भारी अवसर उपलब्ध हैं। उन्होंने मेक इन इंडिया के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए बहुस्तरीय तरीका अपनाने को कहा। सिंह ने कहा बिना स्वदेशी तकनीक का विकास किए रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भर नहीं बना जा सकता है। 
उन्होंने देश में ही संबंधित प्रौद्योगिकियों का विकास करने को कहा। रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा रक्षा मंत्री ने उद्योग जगत को मित्र राष्ट्रों को निर्यात बढ़ाने की दिशा में काम करने को कहा। उन्होंने कहा निर्यात की प्रक्रिया आसान बनाई जा चुकी है। सिंह ने कहा 2018-19 में रक्षा उद्योग का कुल उत्पादन 80 हजार करोड़ रुपए का रहा, जिसमें निजी क्षेत्र का योगदान 16 हजार करोड़ का था।