तोक्यो । व्यापार को लेकर वैश्विक रूप से चल रहे तनावपूर्ण वातावरण में जापान की सरकार ने दक्षिण कोरिया को महत्वपूर्ण निर्यात भागीदारों की कथित श्वेत सूची से बाहर करने को शुक्रवार को मंजूरी दे दी। जापान ने इस कदम को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिये आवश्यक बताया। उसने दक्षिण कोरिया के ऊपर निर्यात नियमों का उल्लंघन करने का आरोप लगाया। उल्लेखनीय है कि द्वितीय विश्वयुद्ध से पहले के औपनिवेशिक काल में जबरन काम कराये जाने से संबंधित मुद्दे को लेकर दोनों देशों के बीच खिंचाव चल रहा है। दक्षिण कोरिया ने जापान को चेतावनी दी थी कि यदि उसे सूची से बाहर किया जाता है तो इससे अमेरिका के दो सहयोगी देशों के सुरक्षा संबंधों पर गंभीर असर पड़ेगा। जापान के व्यापार मंत्री हिरोशिगे सेको ने संवाददाताओं से कहा, ‘मंत्रिमंडल की एक बैठक में सरकार ने निर्यात नियंत्रण कानून में एक संशोधन को मंजूरी दे दी। सूची में शामिल एकमात्र एशियाई देश दक्षिण कोरिया को इससे बाहर किया जाएगा।’ जापान ने यह कदम ऐसे समय में उठाया है जब अमेरिका ने दोनों देशों से आपसी मतभेदों को दरकिनार करने का अनुरोध किया था। दक्षिण कोरिया के विदेश मंत्री कांग क्यू-व्हा ने जापान के इस कदम को एकतरफा तथा स्वेच्छाचारी करार दिया। उन्होंने कहा कि वह इस अनुचित कदम को लेकर कड़ा प्रत्युत्तर देगा।