* चारदीवारी से बना एक मकान घर का रूप तभी लेता है, जब वहां रहने वाले लोगों में प्यार और विश्वास हो। साथ ही घर को बेहतर तरीके से सजाया गया हो। हालांकि अकसर ही घर की साज-सजावट के लिए आप जिन चीजों का प्रयोग करते हैं, वे एक ओर जहां आपके जीवन में सकारात्मक संदेश लेकर आते हैं तो वहीं दूसरी ओर नकारात्मक प्रभाव भी देते हैं।
* प्राचीन भारतीय विज्ञान वास्तुशास्त्र में सही दिशा क्षेत्र में सही सामान रखने के बारे में विस्तार से बताया गया है। आप अपने घर में इन्हें खुद भी आजमा सकते हैं।

फूल-पौधे

* ताजगी और मनोरंजन के वास्तु जोन पूर्व-उत्तर-पूर्व में हरे रंग का फूलदान लगाएं। उसमें ताजा फूलों को रखकर अपने जीवन में अधिक खुशियां और आनंद की प्राप्ति कर सकते हैं।

* रेमेडियल वास्तु के मुताबिक घर के दक्षिण-पूर्व वास्तु जोन में लाल रंग का फूल आपके रिश्तों में उदासीनता को दूर करता है और आपके रिश्तों में जोश लाता है।
* नौकरी में कामयाबी के नए अवसर पाने के लिए अपने घर के धन और अवसर के वास्तु जोन उत्तर दिशा में एक मनीप्लांट लगाएं।

तस्वीरें

* शादी के बाद पार्टनर से थोड़ी-बहुत चिकचिक चलती रहती है, जो परिवार में कलह कारण बनता है। शादीशुदा रिश्ते को मजबूती प्रदान करने के लिए अपनी शादी की तस्वीर अपने घर के दक्षिण-पश्चिम जोन में लगाएं।

* अगर आपके बच्चे हैं और उनका पढ़ने में मन नहीं लग रहा तो बच्चों का ध्यान पढ़ाई की ओर लगाने के लिए पश्चिम-दक्षिण-पश्चिम वास्तु जोन में स्वस्तिक का चिह्न लगाएं। इससे वे पढ़ाई में बेहतर प्रदर्शन करने में कारगर होंगे।
* करियर में प्रमोशन पाना चाहते हैं तो बेहतरीन अवसर प्राप्त करने के लिए पश्चिम-दक्षिण-पश्चिम क्षेत्र में अपने सर्टिफिकेट्स रख सकते हैं।

शोपीस

* विवाहितों के बीच अमूमन छोटी-मोटी गलतफहमियां, असंतोष व तनाव हो ही जाता है। इससे बचने के लिए घर की दक्षिण-पश्चिम दिशा क्षेत्र से गुलाबी एवं लाल रंग हटाएं।

* यदि आपका बेटा-बेटी विवाह के योग्य है तो घर के दक्षिण-पश्चिम क्षेत्र में लव बर्ड्स के शोपीस को रखें। 5,000 से ज्यादा सफल केस रिसर्च में इस उपाय को करने के कुछ दिनों के भीतर ही सकारात्मक परिणाम मिले हैं।
* सेक्स और आकर्षण के दिशा क्षेत्र उत्तर-उत्तर-पश्चिम में सफेद युगल घोड़े का शोपीस रखकर पति-पत्नी के संबंधों में ज्यादा गर्माहट और प्यार लाया जा सकता है।