नई दिल्‍ली : कर्नाटक में पिछले कई दिनों से कांग्रेस-जेडीएस सरकार पर संकट मंडरा रहा है. अब तक कांग्रेस और जेडीएस के करीब 16 विधायक इस्‍तीफा दे चुके हैं. आज सुप्रीम कोर्ट 10 बागी विधायकों की याचिका पर भी सुनवाई करेगा. इसके अलावा सूत्रों के मुताबिक कहा जा रहा है कि मुख्‍यमंत्री एचडी कुमारस्‍वामी आज पद से इस्‍तीफा दे सकते हैं. वहीं मुंबई से एक बागी विधायक एसटी सोम शेखर बेंगलुरु लौट आए हैं.

याचिकाकर्ताओं ने दलील दी कि मुख्यमंत्री अल्पमत में हैं और विश्वास मत हासिल करने से इनकार कर रहे हैं. याचिकाकर्ताओं ने संविधान में प्रदत्त लोकतांत्रिक सिद्धांतों की रक्षा के लिए अपने असाधारण अधिकार को क्रियान्वित करने की मांग की. याचिकाकर्ताओं का कहना है, "विधायिका का कोई भी निर्वाचित सदस्य अपनी अंतरात्मा की आवाज या अन्य जरूरी परिस्थितियों के आधार पर अपनी सदस्यता से इस्तीफा देने का हकदार है."
सुप्रीम कोर्ट आज कर्नाटक के 10 बागी विधायकों की याचिका पर सुनवाई करेगा. वकील मुकुल रोहतगी के माध्यम से दायर याचिका में इन विधायकों ने आरोप लगाया है कि विधानसभा अध्यक्ष अपने संवैधानिक कर्तव्य का पालन नहीं कर रहे हैं और जानबूझकर विधानसभा से उनके इस्तीफे की स्वीकृति में देरी कर रहे हैं.
सूत्रों के अनुसार कहा जा रहा है कि कर्नाटक में चल रहे सियासी संकट के बीच मुख्‍यमंत्री एचडी कुमारस्‍वामी गुरुवार को पद से इस्‍तीफा दे सकते हैं. साथ ही विधानसभा भंग करने की सिफारिश भी कर सकते हैं. इससे पहले कुमारस्‍वामी विधानसभा में अपनी कैबिनेट के साथ अहम बैठक भी कर सकते हैं.
विपक्षी पार्टी बीजेपी ने राज्यपाल वजुभाई वाला से आग्रह किया कि वह एचडी कुमारस्वामी सरकार को शक्ति परीक्षण कराने का निर्देश दें. इस बीच कर्नाटक कांग्रेस के दो और विधायकों एमटीबी नागराज और डी सुधाकर ने बुधवार को अपना इस्तीफा सौंप दिया.
बागी विधायक एसटी सोम शेखर मुंबई से बेंगलुरु लौट आए हैं. लेकिन कहा जा रहा है कि इस्‍तीफे को लेकर वह अपने निर्णय पर ही बरकरार हैं. दरअसल सोम शेखर बेंगलुरु डेवलपमेंट अथॉरिटी के चेयरमैन हैं. वह बेंगलुरु में जरूरी बैठक के लिए वापस आए हैं.