कान्हा प्रवास पर पहुँचे वन मंत्री श्री उमंग सिंघार से 25 जून को टूरिस्ट गाइड्स ने सेवा-शुल्क बढ़ाने की माँग की। इन टूरिस्ट गाइड्स ने माँग करते समय हरगिज नहीं सोचा होगा कि उनकी माँग 24 घंटों में ही पूरी हो जायेगी। वे उस समय आश्चर्यचकित रह गये, जब उन्हें वन मंत्री की पहल पर तारीख बदलने के पहले ही माँग पूरी करने संबंधी विधिवत शासकीय आदेश प्राप्त हुए।

वन विभाग द्वारा जारी आदेश में टूरिस्ट गाइड्स के लिये जी-1 श्रेणी और जी-2 श्रेणी का सेवा शुल्क आगामी पर्यटन वर्ष के लिये क्रमश: 500 रुपये से बढ़ाकर 600 रुपये तथा 360 रुपये से बढ़ाकर 480 रुपये नियत किया गया है। यही नहीं, बेस्ट गाइड प्राइज हासिल करने पर रामकली बाई को जहाँ एक ओर टूर ऑपरेटर फॉर टाइगर की ओर से 20 हजार रुपये का इनाम प्राप्त हुआ था, वहीं दूसरी ओर वन मंत्री श्री सिंघार ने इस महिला गाइड को अपनी तरफ से भी 20 हजार रुपये पुरस्कार देने की घोषणा की।