आजकल बच्चों में मोटापे के मामले बढ़ते जा रहे हैं। आमतौर पर यह देखा गया है कि परिवार में अगर कोई एक व्‍यक्ति मोटापे की समस्‍या से परेशान है तो दूसरों का भी वजन बढ़ता जाता है हालांकि अधिकतर यह अभिभावकों और बच्‍चों में देखने को मिलता है। जिन अभिभावकों का वजन ज्‍यादा होता है उनके बच्‍चों का भी वजन बढ़ता ही जाता है। वहीं अभिभावक इस बात को लेकर खासे परेशान नजर आते हैं कि कैसे बच्‍चे का वजन कम हो। हाल ही में एक अध्ययन में बताया गया है कि  संयमित, नियमित खानपान और व्यायाम से बच्चों के वजन को नियंत्रित किया जा सकता है।
अध्ययन के अनुसार अभिभावक बच्‍चों को जो भी खिलाते हैं बच्‍चे वह खाते जाते हैं। इससे उनका वजन बढ़ने लगता है लेकिन अगर आप अपने बच्‍चे को सेहतमंद खाने और अच्‍छी आदतों को अपनाने को कहते हैं तो वह वजन बढ़ने की समस्‍या से राहत पा सकता है। इसमें खाने और व्यायाम के जरिए बच्‍चों और उनके अभिभावकों को बढ़े हुए वजन को नियंत्रित या कम करने के लिए प्रेरित किया गया है।
अध्यन के दौरान अभिभावकों को बताया गया कि बच्‍चों के बढ़ते वजन को कैसे नियंत्रित और कम किया जा सके। अध्ययन में के बच्‍चों के बीएमआई बॉडी मास इंडेक्‍स पर भी नजर रखी गयी है। 
यह बात सामने आई कि इसमें नियमित स्‍नैक और खाने के साथ ही फिजिकल ऐक्टिविटीज के होने से बच्‍चों के बीएमआई में कमी देखी गई। साथ ही उनका वजन भी नियंत्रित था। वहीं जो बच्चे इसमें शामिल नहीं किये गये थे उनके वजन में वृद्धि दर्ज की गई।