मुंबई । अभिनेत्री तापसी पन्नू को बालीवुड में देर रात तक चलने वाली पार्टियां शूट नहीं करती। वह रात को जल्दी सोना और जल्दी उठना पसंद करती है। तापसी आउटसाइडर होने को इंडस्ट्री में अपनी मजबूती मानती हैं। तापसी ने दक्षिण भारतीय फिल्मों से अपने करियर की शुरुआत की है और हिंदी फिल्म जगत में भी कई फिल्मों की सफलता से उन्होंने अपनी खास जगह बनाई है। 'आउटसाइडर' जैसे टैग के साथ वह कैसे डील करती हैं? इस पर तापसी ने कहा, 'हां, मैं एक आउटसाइडर हूं और मुझे नहीं लगता है कि इसमें कुछ गलत है। मैं एक हैप्पी आउटसाइडर हूं। मैं फिल्म जगत के नामी-गिरामी हस्तियों में मशहूर नहीं हूं और जब मैं शूटिंग नहीं कर रही होती तो मैं घूमती हूं और फिल्मी दुनिया से बाहर एक आम इंसान की जिंदगी को करीब से देखने और जानने की कोशिश करती हूं।' तापसी ने आगे कहा, 'मुझे लगता है कि यह मेरी ताकत है कि मैं इंडस्ट्री में बाहर से आई हूं जो एक सामान्य जिंदगी के चलते अपने प्रदर्शन में कई सारी वास्तविक चीजों को दिखा सकती है। इसके साथ ही मैं रात को जल्दी सो जाती हूं और सुबह जल्दी उठती हूं, इसलिए देर रात तक पार्टी मेरी जीवनशैली को सूट नहीं करता...मैं अपनी दुनिया में खुश हूं, वाकई में।'पिछले साल तापसी की चार बॉलिवुड फिल्में रिलीज हुईं जिनमें 'मुल्क', 'मनमर्जियां' और एक तेलुगु फिल्म 'नीवेवारो' शामिल थी। इस साल 'गेम ओवर' के बाद उनके पास 'मिशन मंगल' और 'सांड की आंख' जैसी फिल्में हैं। हाल ही में तापसी ने खुद को मुंबई में एक नया अपार्टमेंट गिफ्ट किया। इस सफलता को वह किस प्रकार से देखती हैं? इस सवाल के जवाब में तापसी ने कहा, 'यह मेरे बकेट लिस्ट में था कि 30 साल की उम्र तक मुझे अपना कार, अपना अपार्टमेंट और स्थिर करियर चाहिए। शुक्र है कि मैं इन सबको पूरा करने में कामयाब रही। अभी मेरे पास हासिल करने के लिए एक बड़ा मील का पत्थर है जिनमें निर्माता मेरी फिल्मों में पैसा निवेश करने से खुद को नहीं रोकेंगे, यह सोचकर कि यह एक अपरंपरागत और महिला केंद्रित फिल्म है।' तापसी की आखिरी फिल्म 'बदला' ने व्यवसायिक रूप से अच्छा प्रदर्शन किया, लेकिन इसके बावजूद भी इसे लेकर सोशल मीडिया पर ज्यादा बात नहीं हुई, खासकर फिल्म जगत के लोगों का इस पर कोई कॉमेंट नहीं आया। तापसी से जब पूछा गया कि क्या इस तरह की चीजों से वह प्रभावित होती हैं? तो उन्होंने कहा, 'ये वो लोग नहीं हैं जिनसे मेरी फिल्म बॉक्स ऑफिस पर अच्छा पैसा कमाने में सफल रहेगी। अगर कोई फिल्म हफ्तों से थिअटर में चल रही है तो इसका मतलब है कि लोग इसे देख रहे हैं तो फिर मैं शिकायत क्यों करूं?'