भोपालः मध्यप्रदेश में लोकसभा चुनाव के दौरान भोपाल लोकसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह के समर्थन में मिर्ची यज्ञ कराकर दिग्विजय सिंह की जीत की भविष्यवाणी करने और न जीतने पर जीवित जल समाधि लेने की घोषणा करने वाले बाबा वैराग्यनंद ने गुरुवार को भोपाल जिलाधीश से समाधि लेने की अनुमति मांगी है. बाबा वैराग्यानंद ने 16 जून को दोपहर 2 बजकर 11 मिनिट पर जल समाधि लेने का ऐलान किया है. उल्लेखनीय है कि बाबा वैराग्यनंद ने बीते महीने लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह को चुनाव जिताने के लिए राजधानी के कोहे फिजा इलाके में 5 क्विंटल मिर्ची से यज्ञ किया था. 

यज्ञ के बाद ही बाबा वैराग्यानंद ने ऐलान किया था कि उन्हें पूरा भरोसा है कि भोपाल लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह ही जीतेंगे. भाजपा उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर की हार सुनिश्चित है. वहीं उन्होंने आगे कहा था कि अगर दिग्विजय सिंह भोपाल में जीत दर्ज कराने में नाकाम रहते हैं तो वह वह जीवित जल समाधि ले लेंगे. 
वहीं लोकसभा चुनाव के नतीजे आने और दिग्विजय सिंह की पराजय के बाद बाबा बैराग्यनंद से जल समाधि लेने को लेकर काफी सवाल उठे. इस बीच बाबा अचानक गायब हो गए और उत्तर प्रदेश में रमजान के दौरान एक रोजा इफ्जार पार्टी में दिखाई दिए, लेकिन मीडिया के सवालों पर उनके द्वारा बार-बार टिप्पणी करने से मना किया.
ऐसे में कुछ लोगों ने तो बाबा को ढूंढकर लाने वाले को लाख रुपए का ईनाम देने का ऐलान भी किया था. बाबा का एक ऑडियो भी वायरल हुआ जिसमें बाबा बातचीत करने वाले एक युवक को आक्रोशित होकर यह कह रहे हैं कि तुम कौन होते हो मुझसे पूछने वाले कि मैं जल समाधि कब लूंगा या नही लूंगा. इसके बाद आज अचानक बाबा ने भोपाल जिलाधीश को पत्र लिखकर 16 जून को दोपहर 2 बजकर 11 मिनिट पर जल समाधि लेने का ऐलान करते हुए अनुमति मांगी है. बाबा ने कहा है कि मैं अपनी बात पर अटल हूं और जो प्रण लिया है उसे अवश्य पूर्ण करुंगा.