दमोह जिले में 10 जून की रात में 10:45 बजे अज्ञात व्यक्ति द्वारा  ग्रामीण फीडर में जान-बूझकर फॉल्ट बनाकर 22 गाँव की बिजली रोकी गई। ऊर्जा विभाग के कर्मचारियों द्वारा तत्काल कार्यवाही कर रात में 11:45 बजे एक घंटे में फीडर चालू कर दिया गया। विभाग द्वारा थाना नोहटा में मध्यप्रदेश विद्युत अधिनियम के तहत अज्ञात व्यक्ति के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करवाई गई है।

ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने निर्देश दिये हैं कि विद्युत कंपनी के अधिकारी-कर्मचारी सतत् मॉनीटरिंग करें, और जहाँ भी इस तरह की गतिविधियाँ नजर आयें तो तुरंत एफआईआर दर्ज करवायें।