नई दिल्ली : वरिष्ठ कांग्रेस नेता अहमद पटेल को पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के बीच अनबन खत्म कराने की जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है. पार्टी सूत्रों ने यहां सोमवार को यह संभावना प्रकट की. सूत्रों ने कहा कि वरिष्ठ नेता पटेल को पार्टी के व्यापक हित में यह जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है.

दरअसल, पार्टी नेताओं का कहना है कि कांग्रेस के लिए दोनों नेता महत्वपूर्ण हैं. अमरिंदर सिंह पंजाब में कांग्रेस के लोकप्रिय नेता हैं तो सिद्धू राज्य के बाहर पार्टी के अहम प्रचारक रहे हैं.

सिद्धू को पिछले हफ्ते अमरिंदर सिंह ने नया विभाग सौंपा था, मगर उन्होंने अभी तक कार्यभार ग्रहण नहीं किया है. सोमवार को वह यहां पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी से मिले.
सिद्धू ने ट्वीट किया, "कांग्रेस अध्यक्ष से मिला. उन्हें अपना पत्र सौंपा, हालात से अवगत कराया." ट्वीट के साथ उन्होंने एक तस्वीर भी पोस्ट की, जिसमें वह राहुल गांधी, प्रियंका वाड्रा गांधी और अहमद पटेल के साथ खड़े हैं.
मंत्री और मुख्यमंत्री के बीच तनातनी फिर शुरू हो गई है. दरअसल, शनिवार को घोषित सरकार के प्रमुख कार्यक्रमों व योजनाओं की समीक्षा के लिए बनी महत्वपूर्ण परामर्श समितियों से सिद्धू को बाहर रखा है. सिद्धू पार्टी के शीर्ष नेताओं से बातचीत के लिए शुक्रवार से ही राष्ट्रीय राजधानी में डेरा जमाए हुए हैं.