नई दिल्ली: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के ऐलान के बाद दिल्ली मेट्रो रेलवे कॉरपोरेशन (DMRC) महिलाओं को मुफ्त में सफर की स्कीम को अमली-जामा पहनाने में जुट गई है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इसके लिए DMRC कई योजनाओं पर काम कर रहा है. रिपोर्ट के मुताबिक, एक प्लान यह है कि महिलाओं के लिए सभी स्टेशनों पर अलग से काउंटर बनाए जाएं और उन्हें गुलाबी टोकन जारी किए जाएं. माना जा रहा है कि प्लान फाइनल होने के बाद फिलहाल इसे कुछ महीनों के लिए ही लागू किया जाएगा. इस दौरान जिस तरह की दिक्कतें सामने आएंगी उनको ध्यान में रखकर आगे की तैयारी पूरी की जाएगी.

DMRC के सूत्रों के हवाले से खबर है कि इस तरह के किसी भी प्लान को फुल प्रूफ बनाने के लिए कम से कम 9 से 12 महीने के वक्त की जरूरत होती है. लेकिन, दिल्ली सरकार अपनी घोषणा के मुताबिक, इसे हर हाल में 2-3 महीनों के भीतर लागू करना चाहती है. इसलिए, कई योजनाओं पर काम जारी है और उम्मीद की जा रही है कि अगले दो हफ्ते के भीतर DMRC दिल्ली सरकार को अपनी रिपोर्ट पेश करेगी.

क्या है शुरुआती प्लान
मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि फिलहाल पिंक टोकन योजना को लागू करने पर विचार किया जा रहा है. इसके तहत स्टेशनों पर महिलाओं के लिए अलग से काउंटर बनाए जाएंगे. साथ ही महिलाओं को मुफ्त में टोकन जारी किया जाएगा. टिकट काटने वाले मेट्रो कर्मचारी महिलाओं से उनका गंतव्य स्थान पूछेंगे फिर पिंक टोकन रिचार्ज कर उसे महिलाओं को दे देंगे. दिल्ली सरकार इसका भुगतान एकमुश्त DMRC को करेगी.

इस स्कीम की सबसे बड़ी समस्या यह होगी कि स्टेशनों पर भीड़ बढ़ जाएगी और सुरक्षा के लिए अतिरिक्त सुरक्षाबलों की जरूरत होगी. साथ ही वॉलिंटियर्स की भी जरूरत पड़ सकती है. आने वाले दिनों में रजिस्ट्रेशन के माध्यम से महिलाओं को मुफ्त में पिंक स्मार्टकार्ड भी बांटे जा सकते हैं.