जबलपुर। बिजली उपभोक्ताओं की बिजली बिल संबंधी शिकायतों के निराकरण के लिए प्रदेश शासन तथा कंपनी स्तर पर नित नये प्रयास किए जा रहे हैं। इसी कड़ी में बिजली बिलों से संबंधित शिकायतों के निराकरण के लिए प्रत्येक माह के दूसरे मंगलवार को होने वाली समिति की बैठक अब आगामी तीन माह तक प्रत्येक मंगलवार को आयोजित की जाएगी ताकि शिकायतों का निराकरण तेजी से किया जा सके।
प्रदे श  शासन के निर्दे शानुसार म.प्र.पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के अंतर्गत ४४२ समितियों का गठन किया जा चुका है जिसमें लगभग २५०८ शिकायतों का निराकरण भी किया जा चुका है। चुनाव आचार संहिता के चलते मार्च से मई २०१९ तक समिति की बैठकों का आयोजन नहीं किया जा सका। इस माह ४ जून मंगलवार से समितियों की बैठकों का आयोजन पुनः प्रारंभ किया गया है।
जिले के प्रभारी मंत्री के अनुमोदन से गठित समिति में ६ अशासकीय सदस्यों को नामांकित किया गया है जिसमें जनपद पंचायत के सदस्य/नगरीय क्षेत्र के पार्षद, कृषि/व्यवसायिक उपभोक्ता, घरेलू उपभोक्ता सहित दो महिला सदस्यों को  शामिल किया गया है। वितरण केन्द्र के प्रभारी अभियंता को समिति का संयोजक बनाया गया है।
निराकरण प्रक्रिया: बिजली बिल से संबंधित शिकायत प्राप्त होने पर संयोजक अधिकारी द्वारा सभी शिकायतों को समिति के समक्ष प्रस्तुत किया जाता है तथा समिति की अनुशंसा के ३ दिन के भीतर कार्यपालन अभियंता अथवा प्राधिकृत अधिकारी से अनमोदन प्राप्त कर ७ दिन के भीतर संबंधित उपभोक्ता को संशोधित बिल जारी किया जाता है। 
समिति की बैठक प्रत्येक मंगलवार को आयोजित होने से उपभोक्ताओं की शिकायतों के निराकरण में तेजी आयेगी।