जबलपुर। कलेक्टर श्री भरत यादव ने आज ग्रामीण क्षेत्र के भ्रमण के दौरान सिहोरा तहसील के ग्राम मझगवां में चल रहे तालाब गहरीकरण कार्य का निरीक्षण किया और इसे आदर्श तालाब के रूप में विकसित करने के निर्देश अधिकारियों को दिये हैं। ताकि अन्य क्षेत्र के लोग भी तालाबों के संरक्षण के प्रति इससे प्रेरणा प्राप्त कर सकें।
    श्री यादव ने मझगंवा तालाब के आसपास साफ-सफाई की जरूरत भी बताई। उन्होंने क्षेत्र में स्थित सभी तालाबों के किनारे स्थानीय परिस्थितियों के अनुकूल पौधारोपण करने की कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश अधिकारियों को दिये हैं।
    कलेक्टर ने मझगंवा तालाब के बाद सिहोरा तहसील के ही ग्राम हरदुआ कलां में नदी पुनर्जीवन योजना के तहत कनाड़ी नदी को पुनर्जीवित करने के चल रहे कार्य का जायजा भी लिया। उन्होंने कार्य के प्रति संतोष व्यक्त करते हुए नदी के केचमेंट एरिया के आसपास की मिट्टी का परीक्षण कराने तथा उसके मुताबिक पौधारोपण करने की बात कही।
    कलेक्टर ने बाद में मझौली तहसील के ग्राम डूंडी में भी तालाब निर्माण कार्य का अवलोकन किया। उन्होंने तालाब के आसपास रेशम उत्पादन का कार्य प्रारंभ करने तथा इसके लिए हितग्राहियों को चिन्हित करने के निर्देश दिये हैं। श्री यादव ने ग्राम डूंडी में ही नवनिर्मित सामुदायिक भवन का निरीक्षण भी किया। उन्होंने सामुदायिक भवन के उपयोग के लिए शुल्क निर्धारित करने की जरूरत बताई ताकि प्राप्त राशि से इसका बेहतर रखरखाव किया जा सके।
    कलेक्टर ने ग्रामीण क्षेत्र के भ्रमण के दौरान जल संरक्षण के कार्यों को प्राथमिकता देने के निर्देश निर्माण विभागों को दिये। उन्होंने इस मौके पर ग्रामीणों एवं पंचायत प्रतिनिधियों से पांच साल तक के बच्चों में बाल्यकालीन बीमारियों एवं कुपोषण की पहचान के लिए दस जून से चलाये जाने वाले दस्तक अभियान के बारे में चर्चा की तथा अभियान में सक्रिय रूप से सहभागिता निभाने का आग्रह किया। कलेक्टर के भ्रमण में सिहोरा एसडीएम गौरव बैनल तथा संबंधित विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे।