नई दिल्ली : बॉलीवुड इंडस्ट्री के बेस्ट एक्शन डायरेक्टर रहे वीरू देवगन ने आज सुबह अपनी आखिरी सांस ली. सामने आई खबरों के मुताबिक वीरू देवगन पिछले कई दिनों से बीमार चल रहे थे. मुंबई के सांताक्रूज हॉस्पिटल में एडमिट वीरू देवगन की कार्डिक अरेस्ट की वजह से निधन हो गया. बता दें कि वीरू देवगन ने 1994 दिलवाले, हिम्मतवाला 1983, 1988 शहंशाह जैसी बेहतरीन फिल्मों के लिए एक्शन सीन डायरेक्ट किए थे. 

ट्रेड एनालिस्ट तरण आदर्श ने अपने ट्विटर हैंडल पर इस दुखभरी खबर की जानकारी को देते हुए देवगन परिवार को अपनी संवेदनाएं व्यक्त की हैं. 

वीरू देवगन के निधन की खबर सुनते ही ट्विटर पर यूजर्स के रिएक्शन भी आने लगे हैं. एक यूजर ने शोक जताते हुए लिखा कि लिजेंडरी एक्शन डायरेक्टर के निधन की खबर से शॉक्ड हूं.
वहीं फिल्ममेकर अशोक पंडित ने भी वीरू देवगन के निधन पर दुख प्रकट करते हुए ट्वीट किया कि वेटेरन एक्शन डायरेक्टर के निधन की खबर से दुखी हूं. बेटे अजय देवगन और उनके परिवार को भगवान इस दुख से उबरने की शक्ति दे. 
बता दें कि वीरू देवगन 14 साल की उम्र में 1957 में बॉलीवुड का सपना देकर अमृतसर से भागकर मुंबई आ गए थे. बिना टिकट ट्रेन में सफर करने की वजह से वीरू देवगन को हफ्ते भर जेल में गुजारने पड़े थे. वीरू देवगन आए तो थे हीरो बनने लेकिन शुरुआती दिनों के स्ट्रगल के बाद उन्होंने अपना इरादा बदल दिया. कारपेंटर से लेकर एक्शन डायरेक्टर तक का शानदार सफर तय करने वाले वीरू देवगन ने अपने करियर में करीब 3 दर्जन से ज्यादा फिल्मों में स्टंट और एक्शन कोरियोग्राफर के तौर पर काम किया. इसके बाद उन्होंने डायरेक्शन और बतौर फिल्म प्रोड्यूसर भी इंडस्ट्री में काम किया.