वॉशिंगटन । अमेरिका ने कहा है कि वह ईरान के गंभीर खतरे से निपटने के लिए पश्चिम एशिया में 1,500 अतिरिक्त सैनिकों की तैनाती कर रहा है। तेहरान ने शनिवार को इस कदम को अंतरराष्ट्रीय शांति के लिए खतरा बताया। ईरान के विदेश मंत्री जावेद जारिफ ने आधिकारिक संवाद समिति आईआरएनए को बताया, हमारे क्षेत्र में अमेरिका की बढ़ती मौजूदगी बहुत खतरनाक है और अंतरराष्ट्रीय शांति एवं सुरक्षा के लिए खतरा है तथा इसका निश्चित रूप से विरोध किया जाना चाहिए। वहीं अमेरिका के कार्यवाहक रक्षा मंत्री पैट्रिक शैनाहन ने कहा, ईरान की तरफ से गंभीर खतरे को देखते हुए यह बुद्धिमत्तापूर्ण प्रतिक्रिया है। इस तैनाती को मंजूरी देने वाले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इसे रक्षात्मक कदम बताया है। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, हम मध्य पूर्व में सुरक्षा चाहते हैं।