कराची । पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने खिलाड़ियों के अपने परिवार को साथ रखने की मांग मान ली है पर कहा है कि भारत के साथ 16 जून को होने वाले मुकाबले के बाद ही वह परिरवार को साथ बुला सकते हैं। इससे पहले पीसीबी ने कहा था कि खिलाड़ियों का ध्यान भटकने से रोकने के लिए उन्हें परिवार को साथ रखने की अनुमति नहीं दी जा रही। हाल ही में इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला के दौरान खिलाड़ियों को अपने परिवार को साथ रखने की अनुमति दी गयी था पर उसमें टीम को करारी हार का सामना करना पड़ा था। इसी से सबक लेते हुए पीसीबी ने कप्तान सरफराज अहमद के विश्व कप के लिए परिवार को साथ रखने के अनुरोध को खारिज कर दिया था। 
पीसीबी के एक अधिकारी के अनुसार खिलाड़ी चाहते थे कि उनकी पत्नी और बच्चों को आस्ट्रेलिया के खिलाफ 12 जून को होने वाले मैच के बाद उनके साथ रहने की अनुमति दे दी जाए। अधिकारी ने कहा, ‘अब बोर्ड ने अन्य टीमों के चलन को देखते हुए अपने पूर्व फैसले की समीक्षा करने का फैसला किया।' राष्ट्रीय टीम के सदस्य बोर्ड के इस फैसले से नाराज थे और इस संबंध में उन्होंने कई अनुरोध भी किए। उसी को देखते हुए फैसला बदला गया है पर भारत के खिलाफ मैच तक खिलाड़ियों को इंतजार करना होगा।