मुंबई: केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने फिल्म कलाकार कमल हसन के बयान पर कहा है कि आतंकवाद सिर्फ आतंकवाद होता है और आतंकी का कोई धर्म या मजहब या जाति नहीं होती. उन्‍होंने कहा कि यह सच है कि नाथूराम गोडसे ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या की थी और दोनों हिंदू थे लेकिन इसे हिंदू धर्म से जोड़ कर देखना बिल्कुल गलत होगा. जिस प्रकार आतंकी किसी भी मजहब में हो सकता है फिर चाहे वह मुस्लिम हो, हिंदू, दलित हो सिख हो या ईसाई.  इसलिए मैं इस चीज का समर्थन नहीं करता. हालांकि नाथूराम गोडसे को मैं एक आतंकी जरूर मानता हूं क्योंकि उसने गांधी जी की हत्या की थी.

नरेंद्र मोदी ही दोबारा बनेंगे PM
दूसरी तरफ अठावले ने यह भी कहा कि इस बार महाराष्ट्र में और उत्तर प्रदेश में बीजेपी को थोड़ा झटका जरूर लगेगा और सीटों में गिरावट देखी जाएगी. महाराष्ट्र में इस बार तकरीबन 5 से 6 सीटों पर नुकसान होने की संभावना है. आपको बता दें कि पिछली बार शिवसेना बीजेपी ने मिलकर 42 सीटों पर जीत हासिल की थी, उस वक्त स्वाभिमान शेतकरी पक्ष के राजू शेट्टी भी इस गठबंधन के साथ थे. अब अलग हैं.

अठावले ने यूपी में इस बार बीजेपी को 10 से 15 सीटों के नुकसान की संभावना जताई है, लेकिन यह भी कहा है कि बीजेपी को पूरे देश में 260 से ज्यादा सीटें मिलेंगी और एनडीए को 330 से 340 के आसपास सीटें आएंगी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी बनेंगे.


कमल हासन का बयान
दरअसल मक्कल नीधि मैयम (एमएनएम) के संस्थापक कमल हासन ने तमिलनाडु में यह कहकर नया विवाद खड़ा कर दिया है कि आजाद भारत का पहला ‘‘आतंकवादी हिन्दू’’ था. वह महात्मा गांधी की हत्या करने वाले, नाथूराम गोडसे के संदर्भ में बात कर रहे थे. रविवार की रात एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए हासन ने कहा कि वह एक ऐसे स्वाभिमानी भारतीय हैं जो समानता वाला भारत चाहते हैं.
उन्होंने कहा, ‘‘मैं ऐसा इसलिए नहीं बोल रहा हूं कि यह मुसलमान बहुल इलाका है, बल्कि मैं यह बात गांधी की प्रतिमा के सामने बोल रहा हूं. आजाद भारत का पहला आतंकवादी हिन्दू था और उसका नाम नाथूराम गोडसे है. वहीं से इसकी (आतंकवाद) शुरुआत हुई.’’ महात्मा गांधी की 1948 में हुई हत्या का हवाला देते हुए हासन ने कहा कि वह उस हत्या का जवाब खोजने आये हैं.