लंदन  ।  क्या आप जानते हैं कि खाना खाने के वक्त में बदलाव कर आप काफी हद तक इस समस्या से निजात पा सकते हैं? हाल ही में की गई एक स्टडी के अनुसार, ब्रेकफ़ास्ट और डिनर के वक्त में बदलाव कर बॉडी के एक्स्ट्रा फैट को कम किया जा सकता है और इससे मोटापे का खतरा भी कम हो जाएगा। इस स्टडी में शोधकर्ताओं ने खाना खाने के वक्त में बदलाव कर यह पता लगाने की कोशिश की इससे डाइटर इन्टेक, डायबीटीज़ और हार्ट संबंधी बीमारियों पर क्या फर्क पड़ता है। जर्नल ऑफ न्यूट्रिशनल साइंस में प्रकाशित इस स्टडी में सामने आया कि जिन लोगों ने अपने मील टाइम (खाना खाने के वक्त) में बदलाव किया, उन्होंने उन लोगों के मुकाबले दोगुना वज़न कम किया जो एक सामान्य समय पर खाना खा रहे थे। शोधकर्ताओं के अनुसार, अगर इस डेटा को एक बड़े वर्ग पर अपनाकर देखा जाए, तो इससे स्वास्थ्य संबंधी काफी फायदे होंगे। इस स्टडी को प्रमाणित करन के लिए पार्टिसिपेंट्स के कुछ सवाल-जवाब भी शामिल किए गए, जिसमें 57 प्रतिशत ऐसे लोग थे, जिनके खाना खाने के टाइम में बदलाव करने की वह से भूख कम हो गई और जंक फूड खाने की आदत में भी काफी कमी आई। आजकल हर दूसरा शख्स मोटापे और बढ़ते वजन से परेशान है। एक्स्ट्रा फैट और बढ़ते वजन को कम करने के लिए लोग क्या-क्या नहीं करते, इसके बावजूद वजन कम नहीं हो पाता है।