भोपाल। मप्र के तीसरे चरण की आठ लोकसभा सीटों मुरैना, भिंड, ग्वालियर, गुना, सागर, विदिशा, भोपाल और राजगढ़ मे मतदान के दोरान जहॉ अल सुबह से ही पोलिंग बूथ पर मतदाताओं के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया था, वही कुछ जगहों से ईवीएम खराबी और विवाद की खबरे भी लगातार सामने आती रही। जानकारी के अनुसार रायसेन-सांची विधानसभा क्षेत्र के गिरवर पोलिंग बूथ पर मशीन में खराबी आने के कारण मतदान समय पर शुरू नहीं हो सका। ज्यादा समय लगने की वजह से कुछ मतदाता वापस लौट गए। वही ग्वालियर में आईडी को लेकर कर्मचारियों का मतदाताओं से विवाद हो गया। अधिकारी ने बिना आईडी के लोगों को वोट डालने नही दिया, जिसके चलते कई मतदाता बिना वोट डाले ही वापस लौट गए। वही भोपाल में भी जगह जगह इवीएम की खराबी की खबरे भी सामने आई जिसके कारण कई जगह वोटिंग देरी से शुरु हुई। वही  ग्वालियर मतदान केंद्र क्रमांक 58 डोली में मशीन खराब होने से मतदाता परेशान हुए। इसके अलावा ग्वालियर लोकसभा के मुरार क्षेत्र स्थित मतदान केंद्र क्रमांक 172 पर आईडी को लेकर विवाद हो गया।
- भोपाल में कई ईवीएम मशीने खराब, देरी से शुरु हुई वोटिंग
मतदान के दोरान राजधानी भोपाल में भी कई तरह के नजारे देखने को मिले यहॉ मशीन में खराबी की वजह से कई जगह समय पर मतदान शुरू नहीं हो सका। जानकारी के अनुसार भोपाल में बूथ क्रमांक 154, 348 बरकतउल्ला विश्वविद्यालय की वोटिंग मशीन में खराबी आने की वजह से वोटिंग समय पर शुरू नहीं हो सकी। वही चार इमली के मतदान केंद्र पर भी समय पर मतदान शुरू नहीं हो पाया, इसी पर निर्वाचन अधिकारी वीएल कांताराव सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी यहां मतदान करने पहुंचे। भोपाल में बूथ क्रमांक 217,218,219,220 पर भी मतदान समय पर शुरू नहीं हो सका, यहां मतदाताओं की लंबी कतार लगी नजर आई।
- मतदाताओं से विवाद, मंत्री के भाई पर धमकाने का आरोप
इसके अलावा भोपाल के बर्रा और कोलार मैदान केंद्र पर वोट डालने पर विवाद हो गया, इसके साथ ही जनसंर्पक केंद्र 152 पर भी हंगामा हुआ, यहां महिला मतदाताओं ने सुरक्षाकर्मियों पर अभद्रता का आरोप लगाया। महिलाओं का कहना है कि सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें गालियां दीं। विवाद की खबर लगते ही प्रदेश के जनसंपर्क मंत्री वहां पहुंचे और सबको शांत करवाया ।इसके चलते करीब एक घंटे मतदान नहीं हुआ। वही डीआईजी बंगले स्थित मतदान केंद्र पर भाजपा पोलिंग एजेंट को  कांग्रेस के एजेंट दिखा डराने का आरोप भी लगा है। महापौर आलोक शर्मा नेताओं के साथ पहले मतदान केंद्र पहुंचे फिर थाने गए, उन्होने मंत्री आरिफ अकील के भाई आमिर अकील पर धमकाने का आरोप लगाया है।

- भोपाल में जेपी नगर में नवीन हाई स्कूल में बने मतदान केंद्र पर एक मतदाता भाजपा का चिन्ह प्रिंट वाली टीशर्ट पहलकर मतदान करने पहुंचा, जिसे रोककर पुलिस ने उसकी टीशर्ट उतरवाई। 

- मतदान केंद्रों का जायजा लेने निकले दिग्विजय सिंह ने कहा कि निर्वाचन आयोग की तैयारियां ठीक तरह से नहीं होने के कारण मतदाता परेशान हो रहे हैं। मतदान केंद्रों पर पीने तक का पानी नहीं हैं। 

- भोपाल जनसंर्पक केंद्र 152 में भी जमकर हंगामा हुआ, यहॉ पर सुरक्षाकर्मियों पर वोट डालने पहुंची महिलाओ ने अभद्रता करने का आरोप लगाया। महिलाओं का आरोप है की महला सुरक्षाकर्मियो ने उन्हे गालियां दीं। सूचना पाकर प्रदेश के जनसंपर्क मंत्री मोके पर पहुंचे, हंगाके के कारण वहॉ करीब एक घंटे मतदान नहीं हुआ।

- मशीन में खराबी की वजह से कई जगह समय पर मतदान शुरु नही हो सका। भोपाल में बूथ क्रमांक 154, 348 बरकतउल्ला विश्वविद्यालय की वोटिंग मशीन में खराबी आने की वजह से वोटिंग समय पर शुरू नहीं हो सकी।

- चार इमली के मतदान केंद्र पर भी समय पर मतदान शुरू नहीं हो पाया, इसी पर निर्वाचन अधिकारी वीएल कांताराव सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी यहां मतदान करने पहुंचे।

- भोपाल में बूथ क्रमांक 217,218,219,220 पर भी मतदान समय पर शुरू नहीं हो सका है, यहां मतदाताओं की लंबी कतारे लगी नजर आई।

- भोपाल के बोरवन स्कूल के मतदान केन्द्र 153 मे धीमी गति से मतदान को लेकर मतदाताओं ने इसका जमकर विरोध किया। जानकारी मिलने पर यहॉ दिग्विजय सिंह ओर विधायक आरिफ मसूद पहुचे ओर पीठासीन अधिकारी ओर निवार्चन आधिकारियों से दिग्विजय सिंह ने बातचीत की। बताया गया है की 153 बुथ की ईवीएम सुबहा एक घंटे तंक बन्द थी, इस के बाद स्लो पोलिंग को लेकर मतदाताओं मे गुस्सा फैल गया, मोके पर पहुंचे दिग्विजय सिंह ने धीमी गति से मतदान की शिकायत को लेकर अपनी नाराजगी जताई।

- भोपाल में बूथ क्रमांक 154, 348 बरकतउल्ला विश्वविद्यालय की वोटिंग मशीन में खराबी आने की वजह से वोटिंग समय पर शुरू नहीं हो सकी।

- भोपाल में भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर सुबह सबसे पहले मंदिर पहुंची और वहां दर्शन करने के बाद पोलिंग बूथ पहुंचकर मतदान किया।

- भोपाल में भाजपा और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच विवाद हो गया, जानकारी के अनुसार विवेकानद मतदान केंद्र में कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ता आमने सामने आ गए। कांग्रेस का आरोप है, कि मतदान केंद्र परिसर में भाजपा को वोट देने के साथ 2 नंबर बटन दबाने के लिए जोर दिया जा रहा था। मतदाताओं का नाम पता भी नोट किया जा रहा था। इस दौरान कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं में जमकर विवाद हुआ। सूचना मिलने पर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी मौके पर पहुंच गए थे, इसके बाद भाजपा एजेंट को मतदान केंद्र से बाहर किया गया 

- गोविंदपुरा विधानसभा के बूथ क्रमांक 275 भोपाल पब्लिक स्कूल में साइन मैच ना होने के कारण एजेंट को बैठने नहीं दिया गया।

- गोविंदपुरा विधानसभा के बूथ क्रमांक 326 में भाजपा के 2 कार्यकर्ता घनश्याम साहू और धर्मवीर को बागसेवनिया पुलिस ले गई।

- दक्षिण पश्चिम विधानसभा क्षेत्र के बूथ क्रमांक 57 में कार्यकर्ता नईम अंसारी को कमला नगर पुलिस ले गई।