मुंबई इंडियंस इंडियन प्रीमियर लीग के 12वें सीजन का चैम्पियन बना। रविवार को हैदराबाद के राजीव गांधी स्टेडियम पर खेले गए फाइनल में उसने चेन्नई सुपरकिंग्स को 1 रन से हराया। उसने पिछले 7 साल में चौथी बार यह खिताब जीता है। इससे पहले वह 2013, 2015  और 2017 में चैम्पियन रह चुका है। इसके साथ ही मुंबई आईपीएल की सबसे सफल टीम बनी। मुंबई ने 2017 में भी एक रन से फाइनल जीता था। तब उसने राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स को 1 रन से हराया था। 

चेन्नई की ओर से आउट होने वाले बल्लेबाज ड्वेन ब्रावो, महेंद्र सिंह धोनी, अंबाती रायडू, सुरेश रैना और फाफ डुप्लेसिस रहे। उन्होंने 13 गेंद पर 26 रन बनाए। क्रुणाल पंड्या की गेंद पर क्विंटन डीकॉक ने उन्हें स्टम्प किया। रैना को राहुल चाहर ने एलबीडब्ल्यू किया। वे 14 गेंद पर 8 रन ही बना पाए। उस समय टीम के 70 रन थे। रैना की जगह रायडू भी कुछ खास नहीं कर पाए और 4 गेंद पर एक रन बनाकर पवेलियन लौटे। बुमराह की गेंद पर डीकॉक ने उनका कैच पकड़ा। धोनी 8 गेंद पर 2 रन ही बना पाए। वे ईशान किशन के सीधे थ्रो पर रन आउट हुए। जब वे पवेलियन लौटे तब चेन्नई के 82 रन थे।

चेन्नई के दीपक चाहर ने सबसे ज्यादा 3 विकेट लिए

इससे पहले मुंबई ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी चुनी। उसने 20 ओवर में 8 विकेट पर 149 रन बनाए। उसकी ओर से कीरोन पोलार्ड ने सबसे ज्यादा नाबाद 41 रन बनाए। चेन्नई की ओर से दीपक चाहर ने सबसे ज्यादा 3 विकेट लिए। मुंबई की ओर से आउट होने वाले बल्लेबाज मिशेल मैक्लेनाघन, राहुल चाहर, हार्दिक पंड्या, ईशान किशन, क्रुणाल पंड्या, सूर्यकुमार यादव, रोहित शर्मा और क्विंटन डीकॉक रहे।

दीपक ने अपने भाई राहुल को पवेलियन भेजा

रोहित ने 14 गेंद पर 15, डीकॉक ने 17 गेंद पर 29 और सूर्यकुमार ने 17 गेंद पर 15 रन बनाए। क्रुणाल पंड्या 7 गेंद पर 7 रन ही बना पाए। हार्दिक पंड्या 10 गेंद पर 16 रन बनाकर आउट हुए। सुरेश रैना ने 18वें ओवर की दूसरी गेंद पर उनका कैच छोड़ दिया था। उस समय पंड्या 4 रन पर खेल रहे थे। राहुल चाहर बिना खाता खोले पवेलियन लौटे। वे अपने भाई दीपक चाहर की गेंद पर फाफ डुप्लेसिस के हाथों कैच आउट हुए।

रोहित-डीकॉक के कैच धोनी ने पकड़े

मुंबई का पहला विकेट 5वें ओवर की 5वीं गेंद पर गिरा। शार्दुल ठाकुर की गेंद को कट करने की कोशिश में क्विंटन डीकॉक विकेट के पीछे महेंद्र सिंह धोनी को कैच थमा बैठे। अगले ओवर की दूसरी गेंद पर रोहित शर्मा भी पवेलियन लौट गए। दीपक चाहर की गेंद पर उनका कैच भी धोनी पकड़ा। इस समय मुंबई का स्कोर 45 रन था। इन दोनों के आउट का असर मुंबई के रनरेट पर भी पड़ा। उसने पहले 4 ओवर में 37 रन बनाए थे, जबकि अगले 4 ओवर में वह 16 रन ही बना पाई।

सूर्यकुमार का विकेट लेकर पर्पल कैप के हकदार बने ताहिर

क्वालिफायर-1 में चेन्नई के खिलाफ अर्धशतक लगाने वाले सूर्यकुमार यादव को इमरान ताहिर ने बोल्ड किया। इमरान का यह इस सीजन में 25वां विकेट है। वे इसके साथ ही पर्पल कैप के भी हकदार बने। शार्दुल ने अपनी ही गेंद पर क्रुणाल का कैच पकड़ा। शार्दुल के हाथ से पहले कैच छूट गया था, लेकिन उन्होंने गेंद के जमीन पर गिरने से पहले फिर उसे कब्जे में ले लिया। इमरान ने ईशान किशन को भी पवेलियन की राह दिखाई। इस सीजन में इमरान ने उन्हें चौथी बार आउट किया।

धोनी सबसे ज्यादा शिकार करने वाले विकेटकीपर

विकेटकीपर शिकार
महेंद्र सिंह धोनी 132
दिनेश कार्तिक 131
रॉबिन उथप्पा 90
पार्थिव पटेल 82
नमन ओझा 75

इमरान आईपीएल फाइनल खेलने वाले सबसे उम्रदराज क्रिकेटर
मुंबई ने अंतिम एकादश में एक बदलाव किया है। उसने जयंत यादव की जगह मिशेल मैक्लेनाघन को शामिल किया है। चेन्नई की टीम ने कोई बदलाव नहीं किया है। चेन्नई सुपरकिंग्स के इमरान ताहिर आईपीएल के इतिहास में सबसे ज्यादा उम्र में फाइनल खेलने वाले क्रिकेटर बने। उनकी 40 साल 46 दिन है।

दोनों टीमें :

चेन्नई सुपरकिंग्स : महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान), फाफ डुप्लेसिस, शेन वॉटसन, सुरेश रैना, अंबाती रायडू, ड्वेन ब्रावो, रविंद्र जडेजा, हरभजन सिंह, दीपक चाहर, शार्दुल ठाकुर, इमरान ताहिर।

मुंबई इंडियंस : रोहित शर्मा (कप्तान), क्विंटन डीकॉक, सूर्यकुमार यादव, ईशान किशन, क्रुणाल पंड्या, हार्दिक पंड्या, कीरोन पोलार्ड, राहुल चाहर, मिशेल मैक्लेनाघन, जसप्रीत बुमराह, लसिथ मलिंगा।