भोपाल । प्रदेश की राजधानी भोपाल में रविवार सुबह से मौसम का मिजाज बदला-बदला सा है। सड़कों पर तेज हवाओं के साथ धूल का प्रभाव देखने को मिल रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक, प्रदेश में कुछ जगह बारिश की संभावना है। आज भोपाल में वोटिंग भी हो रही है। मौसम से ये अनुमान लगाया जा रहा है कि मतदाताओं को गर्मी से थोड़ी राहत मिलेगी। रविवार सुबह से ही भोपाल में धूंध की चादर छाई दिखी। मौसम विभाग का अनुमान है कि आज से पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो रहा है. इससे हल्के बादल छाए रहने और धूल भरी आंधी चलने की संभावना बनी हुई है। आपको बता दें कि मौसम विभाग ने 11 मई से लेकर 15 मई तक उत्तर पश्चिम भारत के मैदानी इलाकों में आसमानी बिजली कड़कने के साथ ही रुक- रुककर आंधी और बारिश की आशंका जाहिर की थी। इसी के साथ यह भी कहा गया था कि इस दौरान जम्मू-कश्मीर, हिमाचल और उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में ज्यादातर जगहों पर मध्यम दर्जे की बारिश भी हो सकती है. साथ ही पश्चिम बंगाल और सिक्किम के लिए 12 मई और 13 मई को आंधी-पानी की चेतावनी जारी की गई है। पूर्वोत्तर भारत के लिए मौसम विभाग ने 12 मई से लेकर 16 मई तक तेज हवाओं के बीच बारिश होने की चेतावनी दी है। हिमाचल प्रदेश में बारिश और तूफान के कारण शनिवार (11 मई) को राज्य के अधिकतर हिस्सों में अधिकतम तापमान में गिरावट आई।
     शिमला के मौसम विज्ञान विभाग केन्द्र ने बताया कि पिछले 24 घंटों में कुफ्री,मशोबरा और धाल्ली में तूफान आया वहीं शिमला, कल्पा, धर्मशाला, हमीरपुर, डलहौजी, भुंतर, फागू, सांगला,राजगढ़, चंबा और संधोल में हल्की बारिश हुई। केन्द्र ने बताया कि अधिकतम तापमान में एक से दो डिग्री सेल्सियस के बीच गिरावट आई है। हिमाचल प्रदेश की बात करें तो यहां पर 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से कई इलाकों में आंधी आने की आशंका मौसम विभाग ने जताई है।  साथ ही इस बात की भी आशंका जाहिर की गई है कि कई जगहों पर ओलावृष्टि हो सकती है. यह स्थिति यहां पर 17 मई तक रहने की आशंका है। इसी तरह जम्मू कश्मीर के बड़े इलाके में तेज हवाओं के साथ आंधी और बारिश होने की आशंका जताई गई है। यह कहा गया है कि यहां पर 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं कई इलाकों में दर्ज की जाएंगी। बदले हुए मौसम का सबसे ज्यादा असर गर्मी कम करने के लिहाज से राजस्थान में देखा जाएगा. यहां पर पूर्वी और पश्चिमी राजस्थान में ज्यादातर जगहों पर धूल भरी आंधियों के साथ साथ बारिश होने की संभावना भी मौसम विभाग ने जताई है। पूर्वानुमान के मुताबिक राजस्थान में धूल भरी हवाओं की रफ्तार 40 से लेकर 60 किलोमीटर प्रति घंटे की होने की आशंका है। यह स्थिति अगले 6 दिनों तक बने रहने की संभावना है. इसी तरह का मौसम पंजाब और हरियाणा में भी देखा जाएगा जिसका असर पश्चिमी उत्तर प्रदेश और पूर्वी उत्तर प्रदेश तक बना रहेगा।