मेलबर्न: वैज्ञानिकों का कहना है कि तनाव में होने के दौरान उच्च कैलोरी वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करने से सामान्य से अधिक वजन बढ़ सकता है. ऑस्ट्रेलिया में गर्वान इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल रिसर्च के शोधकर्ताओं ने मस्तिष्क में एक आणविक मार्ग की खोज की, जो इंसुलिन द्वारा नियंत्रित होता है और जो अतिरिक्त वजन को बढ़ाता है. टीम ने एक पशु मॉडल का उपयोग करते हुए दिखाया कि तनाव के दौरान जब उच्च कैलोरी आहार का सेवन किया जाता है तो अधिक वजन बढ़ सकता है. तनावमुक्त माहौल में यही आहार लेने पर अधिक वजन नहीं बढ़ता है.

अध्ययन का नेतृत्व करने वाले हरबर्ट हर्जोग ने कहा, ‘‘इस अध्ययन से संकेत मिलता है कि हमें उस दौरान खाने के बारे में अधिक सचेत रहना होगा जब हम तनाव में होते हैं ताकि हम तेजी से विकसित होने वाले मोटापे से बच सकें.’’ टीम ने यह समझने के लिए कि ‘स्ट्रेस ईटिंग’ क्या है, चूहों के मस्तिष्क के विभिन्न क्षेत्रों की जांच की.
सेल मेटाबॉलिज्म जर्नल में प्रकाशित अध्ययन के प्रमुख लेखक केनी ची किन ने कहा, ‘‘हमारे अध्ययन से पता चला है कि जब एक लंबी अवधि तक तनाव होने पर उच्च कैलोरी आहार पर जोर दिया गया तो चूहों में उन लोगों की तुलना में अधिक तेजी से मोटापा बढ़ गया जो तनावमुक्त माहौल में इसी प्रकार के उच्च वसा वाले भोजन का सेवन करते थे.’’