भोपाल। राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में सीएसई व आईटी विभाग के शिक्षकों द्वारा बनाये गये सॉफ्टवेयर की मद्द से यूआईटी के बी.टेक. चतुर्थ सेमेस्टर के सात ब्रांचों के विद्यार्थियों के मैथमैटिकसके मैथमेटिकस-3 विषय की ऑनलाइन परीक्षा 10 मई को आयोजित की गई। वह आरजीपीवी का ऑनलाइन परीक्षा का प्रथम चरण था, परीक्षा के तत्काल बाद छात्रों को परीक्षा परिणाम उपलब्ध करवा दिया गया। प्रथम चरण की  परीक्षा में 551 छात्र सम्मिलित हुए। जिनका परीक्षा परिणाम 95.46 प्रतिशत रहा। सर्वोच्च अंक 83 प्रतिशत रहा। द्वितीय चरण में 3 जून को द्वितीय सेमेस्टरके 08 ब्रांचों के एम-2 विषय के 611 की ऑलाइन परीक्षा आयोजित होगी।  
यूआईटी आरजीपीवी के डायरेक्टर प्रो. आर.एस.राजपूत के अनुसार परीक्षा दो शिफ्टों में विश्वविद्यालय में आयोजित की गई। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.सुनील कुमार द्वारा यूआईटी आरजीपीवी को ऑटोमेशन प्रक्रिया की ओर बढ़ाने तथा उत्कृष्टता केंद्र के रूप में स्थापित करने के लक्ष्य के अनुक्रम में ऑनलाइन  परीक्षा स्वयं के स्तर पर अपने संसाधनों के साथ आयोजित कराने का यह प्रथम प्रयास है। पेपर वर्क बचाने एवं पारदर्शिता बढ़ाने के लिए आयोजित इस परीक्षा में विद्यार्थियों की सुविधा के लिए सॉफ्टवेयर में वर्चुल की, बोर्ड, क्रीन पर साइंटिफिक कैलकुलेटर और परीक्षा को पुन: प्रारंभ करने के लिए रिज्यूम आप्शन भी दिया गया था। सॉफ्टवेयर में एक अंक के 35 प्रश्न,3 अंकके 15 प्रश्न,5 अंक प्रश्न पूछे गये थे। ऑनलाइन परीक्षा में विद्यार्थियों की सहभागिता एवं उत्साह ने तथा बनाये गये सॉफ्टवेयर के सफल प्रयोग से इंजीनियरिंग मैथमेटिकस जैसे विषयों की परीक्षा भी अब ऑनलाइन आयोजित की जा सकेगी। ऑनलाइन परीक्षा होने से पारदर्शिता भी बढ़ेगी। यूआईटी ने ऑनलाइन परीक्षा का आयोजन किसी बाहरी एजेंसी से करवाने के बजाय अपने स्तर पर किया, यह उत्कृष्टता कि दिशा में सार्थक प्रयास था।