अगर आप सोचती हैं कि तेज धूप सिर्फ त्वचा को ही नुकसान पहुंचाती है, तो आप गलत हैं। यह बालों को भी उतना ही नुकसान करती है। अगर आप रोजाना ही तेज धूप में बाहर निकलती हैं, तो बाल जल्दी सफेद होने का खतरा कई गुनस बढ़ जाता है।  
मेलानिन कम होता जाता है
हमारे शरीर में मेलानिन नाम का तत्व होता है, जो बालों को शाइनिंग देने के साथ सेहतमंद रखता है। धूप में ज्यादा देर रहने से मेलानिन काफी तादाद में खत्म हो जाता है, जिससे बाल सफेद होने शुरू हो जाते हैं। शरीर में बनने वाले मेलानिन तत्व के कारण बाल काले रहते हैं, लेकिन धूप में ज्यादा देर रहने पर ये तत्व स्काल्प से नष्ट होने लगते हैं। इससे बालों का रंग जड़ों के पास से बदलने लगता है और वो धीरे-धीरे सफेद होने लगते हैं।
पसीना भी है कारण
गर्मी की तेज धूप के कारण शरीर के अन्य हिस्सों की तरह स्काल्प से भी पसीना आता है। आप बाहर से घर आने पर सिर नहीं धोते, तो वो पसीना बालों की जड़ों में सूखता रहता है। पसीने में सोडियम, जिंक, मैग्नीशियम और अमोनिया होता है जो बालों को जड़ों से डैमेज कर देता है, जिससे बाल हेल्दी नहीं रह पाते और सफेद होने लगते हैं। इसलिए गरमी में बालों को सेहतमंद रखने के लिए रोजाना धोना जरूरी है।
धूप में निकलते समय छतरी या दुपट्टे से बालों को कवर कर लें। इससे सूरज की हानिकारक अल्ट्रावायलेट किरणें सीधे स्काल्प तक नहीं पहुंचेगी। बाहर से घर आने पर आप हर बाल सिर नहीं धो सकते लेकिन पसीने को साफ जरूर कर सकते हैं। ऐसे में जब भी सिर पर पसीना आए स्काल्प को अच्छी तरह पोंछकर सूखा लें। बालों को हेल्दी रखने के लिए दिनभर में कम से कम 8-9 गिलास पानी जरूर पीएं, ताकि त्वचा के साथ स्पैल्प पर भी नमी बनी रहे। रोजाना नहीं, तो हफ्ते में 2-3 बार शैंपू करना जरूरी है। इसके साथ ही बालों को कंडीशनर लगाना ना भूलें। 
रोजाना तेल लगाने से बचें
हफ्ते में 2 बार तेल लगाएं। 2-4 घंटे के लिए छोड़ दें और फिर बालों को माइल्ड शैंपू से धोएं।
यह है डैंड्रफ और गंदगी की वजह
स्काल्प पर पसीना होने के कारण धूल, मिट्टी और प्रदूषण के कण भी बालों की जड़ों में जमा हो जाते हैं, जिससे डैंड्रफ और ड्राई स्काल्प की समस्या हो जाती है। ये समस्य या तो बाल गिरने की वजह बनती हैं या सफेद होने की।
आहार
आपने आहार में विटमिन ई से भरपूर चीजों को शामिल करें, ताकि आपके बाल जड़ से सेहतमंद रहें।