जबलपुर। मौसम बड़ा बेरहम हो चला है। भीषण गर्मी से लोगों का जीना मुहाल हो गया है। गर्मी से बचाव के सारे संसाधन और इंतजामात बौने साबित हो गये। दिन में आसमान और रात में धरती माता आग उगल रही है। पंखे तो पंखे कूलर ने भी दम तोड़ दिया है। ठंडी हवाएं वातावरण से गायब हो गयी है। गर्म हवाओं के थपेड़े न दिन में सुकून से बैठने दे रहे है और न रात में चैन से सोने दे रहे है। शरीर में गर्मी बर्दाश्त करने की क्षमता अब समाप्त हो गई है। उसी प्रकार गर्म वातावरण में पंखे और कूलर भी ठंड हवाओं से राहत देने का काम छोड़ चुके है। मौसम विभाग के अनुसार अगले २४ घंटों के दौरान तड़ित गर्म हवाओं के झोंके चलेंगे। मौसम शुष्क रहेगा और तापमान बढ़ेगा। 
    स्थानीय मौसम विज्ञान केन्द्र के प्रवक्ता ने बताया कि पश्चिमी हवाएं चलने से तापमान में स्थिरता बनी हुई है। गर्म हवाआें के थपेड़े हवा मे नमी बढ़ने से उमस का वातावरण बन गया। पिछले २४ घंटों के दौरान नगर का अधिकतम तापमान ४०.१ डिग्री सेल्सियस सामान्य से १ डिग्री कम दर्ज किया गया। वहीं न्यूनतम तापमान २६.० डिग्री सेल्सियस सामान्य से १ डिग्री अधिक दर्ज किया गया। हवा में नमी प्रातः काल ४१ प्रतिशत और सायंकाल २२ प्रतिशत आंकी गई। प्रदेश में सर्वाधिक ४३ डिग्री तापमान खरगौन जिले में दर्ज किया गया। उत्तरी-पश्चिमी हवायें ६ किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चली। सूर्योदय प्रातः ५.३४ बजे और सूर्यास्त ६.४० बजे हुआ। पिछले वर्ष आज के दिन का अधिकतम तापमान ४२.० डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान २८.६ डिग्री दर्ज किया गया था। अगले २४ घंटों के दौरान मौसम आम तौर पर शुष्क रहने की संभावना व्यक्त की गई है।