अमरोहा,  लोकसभा चुनावों के दूसरे फेज में उत्तर प्रदेश की 8 सीटों पर मतदान चल रहा है. उत्तर प्रदेश की इन्हीं 8 सीटों में से एक है अमरोहा. अमरोहा में आज वोटिंग शुरू हुए 2 घंटे भी नहीं हुए थे कि बीजेपी के वर्तमान सांसद और पार्टी के प्रत्याशी कंवर सिंह तंवर ने एक सनसनीखेज आरोप अपने विरोधियों पर लगा दिया. हालांकि, दो घंटे बाद वह अपने आरोप से पलट गए.

पहले आज तक के कैमरे पर आकर बीजेपी सांसद कंवर सिंह तंवर ने बताया कि विरोधी पार्टियां बुर्के की आड़ में फर्जी वोट डलवा रही है. उन्होंने तो यहां तक दावा कर दिया कि पुलिस ने एक बूथ पर ऐसे मर्द को पकड़ा है जो बुर्का पहनकर वोटिंग कर रहा था.
आज तक की टीम ने इसकी सच्चाई जानने का फैसला किया. अमरोहा में आरोप लगाने के बाद इसी लोकसभा क्षेत्र के एक इलाके नौगांवा सादात में कंवर सिंह तंवर गए. नौगांवा सादात विधानसभा में ही तवर ने बुर्के में फर्जी वोटिंग का आरोप लगाया था. हमारी टीम भी तंवर के साथ उस बूथ तक जा पहुंची जहां पर ऐसे फर्जीवाड़े का आरोप लगाया गया. हमारी टीम के साथ-साथ पुलिस और जिला प्रशासन के अधिकारी भी वहां आ पहुंचे. कुछ देर बाद जिले के एसपी और डीएम भी.

वहां जाते ही बीजेपी उम्मीदवार कंवर सिंह तंवर अपने पहले दिए गए बयान से पलट गए. उन्होंने कहा कि उनके कार्यकर्ताओं ने फर्जी वोटिंग की सूचना दी थी वह किसी पर आरोप नहीं लगा रहे हैं. जब हमने उनके कार्यकर्ताओं से बात की तो उनका दावा यह था कि महिलाएं बुर्के में फर्जी वोटिंग कर सकती हैं, लेकिन किसी मर्द ने बुर्के की आड़ में फर्जी वोटिंग नहीं की है. तब हमारी टीम ने उन महिलाओं से भी पूछा जो बुर्के में वोट डालकर आ रही थी. उन्होंने कहा कि बुर्के में होने के बावजूद उनके चेहरे की पूरी निशानदेही की जा रही है.

इन सबके बीच इलाके के डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट उमेश कुमार और उनकी पूरी टीम भी आ पहुंची थी. हमने उनके सामने भी माईक अड़ा दिया और पूछा कि क्या ऐसा कोई वाकिया उनकी जानकारी में है जिसमें किसी मर्द ने बुर्के को पहनकर वोटिंग की हो.  उन्होंने ऐसी जानकारी को सिरे से खारिज कर दिया.

इससे पहले पहले चरण में मुजफ्फरनगर से बीजेपी सांसद संजीव बलियान ने बुर्के की आड़ में फर्जी वोटिंग का आरोप लगाया था. एक घंटे के बाद ही चुनाव आयोग ने इसे सिरे से खारिज कर दिया था.