नई दिल्ली । भारत में काफी सस्ते मोबाइल डेटा और किफायती स्मार्टफोनों से यूट्यूब को जबरदस्त फायदा पहुंचा है। अमेरिका को पछाड़कर भारत यूट्यूब का सबसे बड़ा और सबसे तेजी से बढ़ रहा बाजार बन गया है। लर्निंग और एजुकेशन,म्यूजिक,हेल्थ और कूकिंग जैसे विविध विषयों पर स्थानीय भाषाओं में सामग्री से यूट्यूब का इस्तेमाल काफी बढ़ा है। यूट्यूब अमेरिका की दिग्गज टेक कंपनी गूगल का हिस्सा है। अभी भारत में इसके 26.5 करोड़ सब्स्रकाइबर हैं। कंपनी के एक अधिकारी ने बताया कि यूट्यूब पर 95 प्रतिशत विडियो की खपत टियर-2 और टियर 3 शहरों में स्थानीय भाषाओं में हो रही है। भारत में मोबाइल डेटा दुनिया में सबसे सस्ता है। सितंबर 2016 में रिलायंस जियो के लांच के बाद से डेटा टैरिफ लगातार सस्ता हो रहा है। फिलहाल 1 जीबी डेटा की कीमत 10 रुपये से भी कम है जो 2-3 साल पहले 100 रुपए हुआ करती थी। यूट्यूब की सीईओ सुसैन वोजसिकी ने बताया, 'पिछले एक साल में, मोबाइल पर यूट्यूब की खपत 85 प्रतिशत बढ़ी है। इनमें से 60 प्रतिशत भारत के 6 सबसे बड़े मेट्रो शहरों के बाहर से हो रही है।'