ऐसे फ्रॉड की शुरुआत एक फोन कॉल से होती है, जिसमें कॉल करने वाला व्यक्ति बताता है कि वो आपके बैंक से बोल रहा है। यानी, जालसाज बैंक के रिप्रेजेंटेटिव बनकर कॉल करते हैं।आपको किसी तरह का शक न हो, धोखाधड़ी करने वाला गैंग फोन पर आपका नाम, जन्मतिथि और मोबाइल नंबर जैसे डीटेल्स को वैरिफाई करेगा।

इस स्कैम से जुड़ी कॉल आमतौर पर लैंडलाइन नंबर से आती है, जिससे आपको किसी तरह का शक न हो।फोन कॉल पर जालसाज डराने का काम करते हैं, ये लोगों से कहते हैं कि उनका कार्ड ब्लॉक हो सकता है या अकाउंट बंद हो सकता है।जब तक आप कुछ समझ पाएं, जालसाज आपके बैंक खातों में सेंधमारी कर चुके होते हैं।