जबलपुर। दिगंबर आचार्य संत श्री विद्यासागर जी महाराज शहपुरा से गमन कर जबलपुर की ओर बिहार कर चुके हैं। बुधवार की देर शाम भेड़ाघाट के आगे पहुंच चुके थे और यहीं पर उनका रात्रि विश्राम हुआ। आचार्य श्री की आज  गुरुवार की सुबह ७ बजे मढ़िया जी में भव्य अगवानी होगी। जैन समाज के श्रद्धालु आचार्य श्री के जबलपुर की ओर गमन करते  ही हर्षित हो गए और उनके दर्शन करने भेड़ाघाट तक पहुंच गए। आचार्य श्री के साथ श्रद्धालुओं का बहुत बड़ा काफिला चल रहा था। लगभग एक दशक बाद आचार्य श्री के चरणों से संस्कारधानी की धारा एक बार फिर पावन होने जा रही है। वर्ष २००९ में गंगानगर में आयोजित गजरथ महोत्सव के समय आचार्य श्री का नगर आगमन हुआ था इन १० वर्षों के बीच आचार्य श्री जबलपुर के आसपास क्षेत्रों से बिहार करते हुए निकल गए थे। आचार्य श्री का गमन और विहार कार्यक्रम पहले से तय नहीं होता। आचार्य श्री शाहपुरा से जब गमन कर गए तो इस बात के कयास लगाए जाने लगे थे कि वे जबलपुर पहुंचेंगे इस बीच आचार्य श्री शाहपुरा से भेड़ाघाट पहुंचे और अब भेड़ाघाट से भी गमन करके बाईपास तक आ गए तो यह निश्चय हो गया कि आचार्य श्री के पावन चरण अब संस्कारधानी की धरा को पावन करेंगे। श्री पिसंहारी मढ़िया ट्रस्ट कमेटी के प्रधान मंत्री राकेश चौधरी ने बताया कि सकल जैन समाज के प्रतिनिधि गुरुवार की सुबह बायपास मार्ग पर पहुंचेंगे। वहां से आचार्य श्री पिसंहारी की मढ़िया लाएंगे जाएंगे। जहां आचार्य श्री की भव्य अगवानी की जाएगी। आचार्य श्री के प्रवास को लेकर सकल जैन समाज में हर्ष व्याप्त है और आचार्यश्री की अगवानी के लिए जोर शोर से तैयारी की जा रही है। आचार्य श्री की भव्य अगवानी करने की अपील मरिया जी ट्रस्ट के राजू जैन राकेश चौधरी सहित श्री दिगंबर जैन पंचायत सभा के अध्यक्ष सत्येंद्र जैन जग्गू महामंत्री सनत जैन के अलावा वरिष्ठ समाजसेवी पूर्व राज्य मंत्री शरद जैन, अशोक जैन फुग्गा, सुनील मंगला हाट, मनोज जैन कुमार, संजय चौधरी, संजीव चौधरी, ई एम एस के प्रबंध निर्देशक सनत जैन, पवन एलआईसी, राजकुमार कक्का, दीना जैन, रौनक जैन एवं अशोक जैन इंजीनियर आदि ने की है।