जम्मू । कश्मीर में आतंकियों पर नकेल कसने के लिए सुरक्षाबलों ने पूरी तरह कमर कस ली है। दक्षिण कश्मीर में स्थित पुलवामा जिले के त्राल में हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने जैश ए मोहम्मद के तीन आतंकियों को मार गिराया है। खबर है कि इन मृतकों में जैश कमांडर मुदस्सिर भी शामिल है। बताया जा रहा है कि मुदस्सिर पुलवामा हमले की साजिश रचने वाले आतंकियों में से एक था। खुफिया सूत्रों के मुताबिक, 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले के लिए मुदस्सिर ने ही आईडी प्लांट किया था। 24 साल का मुदस्सिर एक साल पहले ही जैश में शामिल हुआ था। इससे पहले वह जैश का ओवरग्राउंड वर्कर था। जांच एजेंसियों की मानें तो मुदस्सिर ने आतंकी कामरान के साथ मिलकर पुलवामा हमले के लिए एक आईडी किट बनाई थी। ये किट खास तरह से गाड़ी के ज़रिए आत्मघाती हमला करने के लिए बनाई गई थी। सुरक्षाबलों ने कामरान को पुलवामा हमले के तुरंत बाद ही मार गिराया था।
इसके अलावा सुरक्षाबलों ने रविवार रात से चल रही मुठभेड़ में जैश के एक अन्य आतंकी सज्जाद को मार गिराया है। आरोप है कि सीआरपीएफ काफिले पर हुए हमले के लिए सज्जाद ने गाड़ी खरीदने में मदद की थी और फिर वही गाड़ी को हमले की जगह लेकर आया था। इसके अलावा इस मुठभेड़ में एक पाकिस्तानी आतंकी को भी मार गिराया गया है। जम्मू-कश्मीर में आतंकी मॉड्यूल के खिलाफ यह अब तक का सबसे बड़ा और सबसे सफल ऑपरेशन है। बता दें कि इलाके में आतंकियों के छिपे होने की खुफिया सूचना के बाद सुरक्षाबलों ने रविवार देर शाम सर्च ऑपरेशन शुरू किया था। मारे गए आतंकियों के पास से भारी मात्रा में गोला-बारूद बरामद मिला है। बता दें मुदस्सिर पुलवामा से ग्रेजुएशन और इलेक्ट्रीशियन का डिप्लोमा कर चुका है। वह 2017 में अजहर मसूद के आतंकी संगठन जैश से जुड़ा था। 14 फरवरी को हमले से पहले वह लगातार फिदायीन आदिल अहमद डार के संपर्क में था। माना जाता है कि फरवरी 2018 में आर्मी कैंप पर हुए हमले में भी मुद्दसिर शामिल था।