लंदन । शोधकर्ताओं ने यह पता लगाया है कि पढ़ाई के एक एक्स्ट्रा साल का संबंध बढ़े हुए आईक्यू से है, जिसकी रेंज 1,197 आईक्यू पॉइंट्स से लेकर 5,229 आईक्यू पॉइंट्स तक है। इसके साथ ही स्टडीज में पता चला कि पढ़ाई के एक एक्स्ट्रा साल से औसत 3,394 आईक्यू पॉइंट्स का इजाफा देखा गया। एडिनबर्ग यूनिवर्सिटी के को-ऑथर स्टुअर्ट रिची ने बताया, 'हमारे विश्लेषण से पुख्ता सुबूत मिले हैं कि पढ़ाई से इंटेलिजेंस टेस्ट स्कोर बढ़ जाते हैं। हमने कई शोधों के बाद 42 डेटा सेट्स देखे जिससे यह पता चला कि पढ़ाई का एक एक्स्ट्रा साल लोगों के आईक्यू का एक और पांच पॉइंट्स तक बढ़ा सकता है।' कई बार शोधों से यह बात सामने आ चुकी है कि पढ़ाई और इंटेलिजेंस एक-दूसरे से संबंधित हैं लेकिन यह बात साफ नहीं हुई कि क्या शिक्षा से इंटेलिजेंस बढ़ता है या पहले से ही तेज आईक्यू वाले लोग लंबा वक्त स्कूल में बिताते हैं। शोधकर्ताओं ने यह बात भी कही कि हर स्टडी की कुछ कमियां और कुछ अच्छाइयां होती हैं और जो नतीजे आते हैं उनसे नए सवाल पैदा होते हैं, जिनसे नई खोज होती है। पढ़ाई का एक एक्स्ट्रा साल आपका ज्ञान तो बढ़ाता ही है इससे आपके आईक्यू में भी इजाफा करता है, यह बात स्टडी में सामने आई है।