जबलपुर। चुनाव में छोटी सी गलती भी क्षमा नहीं की जायेगी। चुनाव में सभी अधिकारी-कर्मचारी पूरी जिम्मेदारी से कार्य करें। राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री बसंत प्रताप सिंह ने यह बात विभिन्न जिलों के ई-गवर्नेंस मैनेजर, लोक प्रबंधकों और डाटा एन्ट्री ऑपरेटर की भोपाल में आयोजित ट्रेनिंग में कही। 
राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री सिंह ने कहा कि निर्वाचन के दौरान विकास खण्ड स्तर पर सुविधा केन्द्र बनाये जायेंगे। इन केन्द्रों के माध्यम से चुनाव लड़ने के इच्छुक अभ्यर्थियों और मतदाताओं को जागरूक किया जायेगा।
अभ्यर्थियों को ऑनलाइन फार्म भरने की सुविधा ............
श्री सिंह ने कहा कि राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा अभ्यर्थियों को नाम निर्देशन-पत्र ऑनलाइन भरने की सुविधा दी गयी है। उन्होंने कहा कि यह सुविधा अभी तक भारत निर्वाचन आयोग द्वारा भी नहीं दी गयी है। श्री सिंह ने बताया कि अधिसूचना जारी करने से चुनाव परिणाम घोषित होने तक की प्रक्रिया ऑनलाइन की गयी है। उन्होंने कहा कि पूरे ध्यान से ट्रेनिंग लें, जिससे प्रक्रियात्मक त्रुटि नहीं हो।
आयोग की सचिव श्रीमती सुनीता त्रिपाठी ने कहा कि ट्रेनिंग के दौरान जो भी बातें समझ में नहीं आयें, उन्हें पुन: पूछें। उन्होंने कहा कि शंकाओं का समाधन जरूर करें। उप सचिव श्रीमती अजीजा सरशार जफर ने आई.टी. के क्षेत्र में आयोग द्वारा किये गए नवाचारों की जानकारी दी। उन्होंने आयोग के अन्य कार्यों के बारे में भी बताया। आई.टी. कंसलटेंट श्री दीपक नेमा ने ऑलिन, आई.ई.एम.एस., आई.पी.आई.एस., 'चुनाव' मोबाइल एप, ई.व्ही.एम. ट्रेकिंग और मॉनीटरिंग सिस्टम सहित अन्य विषय की जानकारी दी। इस दौरान उप सचिव श्री राकेश श्रीवास्तव एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
आयोग में २ मार्च को नर्मदापुरम, भोपाल, शहडोल, जबलपुर और सागर संभाग के ई-गवर्नेंस मैनेजर और अन्य आई.टी. एक्सपर्ट को प्रशिक्षण दिया जायेगा।