जबलपुर। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह बुधवार सुबह जबलपुर पहुंचे। उनसे मिलने शहर के विधायकों समेत बड़ी संख्या में कांग्रेस नेता पहुंचे। दिग्विजय सिंह ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए एयर स्ट्राइक पर खुलकर बात की। एयर स्ट्राइक को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में पूर्व सीएम ने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मुद्दों को केबिनेट और इंटरनल सिक्योरिटी पर छोड़ना चाहिए। सभी दलों के नेताओं को बुलाकर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज खुद ब्रीफ कर रहीं हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी खुद बता रहे हैं। इसलिए इस पर कुछ नहीं कहना चाहिए। सेना और देश की सुरक्षा अहम है इस पर किसी भी प्रकार की राजनीति नहीं होनी चाहिए।
जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती द्वारा दिए गए बयान पर दिग्विजय सिंह ने कहा कि यह सवाल तो भाजपा और आरएसएस के राममाधव से पूछना चाहिए, जिन्होंने महबूबा के साथ मिलकर सरकार बनाई थी। गौरतबल है कि महबूबा ने ट्वीट कर एयर स्ट्राइक पर देशवासियों के बर्ताव को जहालत कहा था। दिग्विजय सिंह ने कहा कि एयर स्ट्राइक का मुद्दा सेना और देश की सुरक्षा से जुड़ा है। इसमें राजनीति नही होनी चाहिए। राजनीति करने वाले तो इसमें कोई न कोई रंग खोज ही लेंगे।
क्या यही है भाजपा का राम राज्य.........
चित्रकूट में दो बच्चों की निर्मम हत्या के सवाल पर दिग्विजय सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार पीड़ित परिवार के साथ है। घटना में दो मोटर सायकिलें पकड़ी गई हैं। जिनमें रजिस्ट्रेशन नम्बर तक नहीं लिखा था। बाइकों पर भाजपा का चुनाव चिन्ह और राम राज्य लिखा था। क्या यही भाजपा, विश्वहिन्दू परिषद और बजरंगदल का राम राज्य है। हत्यारों में दो चित्रकूट यूनीवर्सिटी के छात्र हैं, क्या यही शिक्षा विवि में दी जाती है। पूर्व सीमए ने दोषियों के लिए फांसी की सजा की मांग की।
कानून व्यवस्था पर यह बोले सिंह...........
प्रदेश में बिगड़ी कानून व्यवस्था को लेकर किए गए सवाल के जवाब में दिग्विजय सिंह ने कहा कि इंदौर में जो हत्या की गई थी उसमें सुपारी किलर ने २५ हत्याएं की थीं। वह भाजपा का समर्थक था। मंदसौर में हुई हत्या में भी भाजपा का कार्यकर्ता दोषी मिला। रतलाम में संघ पदाधिकारी हत्या में शामिल रहा। इन सब मामलों से यह पता चलता है कि भाजपा के निचलते स्तर पर बैठे १५ वर्षों से जड़े जमाएं कार्यकर्ता अपराध कर रहे हैं।
राजनीति की जमीन तलाश रहे भागवत............
जबलपुर में तीन दिन के प्रवास पर आए संघ प्रमुख मोहन भागवत के दौरे को लेकर दिग्विजय सिंह ने कहा कि जनकल्याण के लिए नही आये थे भागवत। वे राजनीतिक जमीन को मजबूत करने के लिए घूम रहे हैं।
कान्हा के लिए हुए रवाना..........
पूर्व सीएम सिंह नर्मदा एक्सप्रेस से जबलपुर सर्किट हाउस पहुंचे। यहां नगर अध्यक्ष दिनेश यादव, विधायक विनय सक्सेना, कदीर सोनी, तरविन्दर कौर गुजराल सहित अन्य नेताओं ने उनसे मुलाकात की। मुलाकात के बाद सिंह कान्हा के लिए रवाना हुए।