मुंबई  । हाल ही में अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने भारतीय कानून व्यवस्था से जुड़ा हुआ शो 'कोर्टरूम' को प्रमोट करने के लिए दिल्ली का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने मीटू से लेकर ट्रोलिंग तक पर बड़ी बेबाकी से अपनी राय रखी। स्वरा ने मीटू कैंपेन पर बोलते हुए कहा, "मुझे नहीं लगता कि हमें अदालत जाने वाली महिलाओं की संख्या के आधार पर मीटू कैंपेन का आंकलन करना चाहिए। यह कैंपेन शेयर करने और स्वीकार करने के बारे में है। मेरे साथ भी ऐसा हुआ है, मैं पिछले 20 वर्षों से शांत हूं, लेकिन आज मेरे साथ जो कुछ हुआ है उसे साझा करने की ताकत है।" स्वरा ने कहा कि बहुत सारी औरते हैं जो मीटू कैंपने के दौरान बाहर आईं, लेकिन उनके पास इसका कोई सबूत नहीं है। क्योंकि यह सब उनके साथ 20 साल पहले हुआ था। हम कुछ अपराधियों को जेल नहीं भेज सकते हैं क्योंकि हर मामले की अपनी जटिलताएं होती हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि यह उनके साथ नहीं हुआ है।सोशल मीडिया पर लगातार बढ़ रही ट्रोलिंग की घटनाओं को लेकर स्वरा ने कहा कि देखिए, एक अभिनेता बनने के लिए आपको मोटी चमड़ी का होना पड़ता है। क्योंकि, जनता की नज़र में होने का मतलब है कि आपको एक खास तरह का अटेंशन मिलेगा। हम चाहते थे कि लोग हमारी राय पूछें, हमारे साथ सेल्फी क्लिक करें और इन सब के बीच हम कभी-कभी ट्रोल भी हो जाते हैं।  यहां बता दें कि  कलर्स टीवी पर जल्द ही भारतीय कानून व्यवस्था से जुड़ा हुआ शो 'कोर्टरूम' आने वाला है। यह धारावाहिक उन ऐतिहासिक अदालती फैसलों को दिखाएगा जिन मामलों ने अदालती न्याय में लोगों के विश्वास को बहाल किया है। 9 फरवरी को धारावाहिक का प्रीमियर रखा गया है। यह धारावाहिक हर शनिवार और रविवार शाम 7 बजे टेलीकास्ट किया जाएगा।