कैनबेरा। एक ओर जहां अमेरिका और कनाडा सहित दुनिया के कई देश ठंड और बर्फबारी के कहर को झेल रहे हैं वहीं ऑस्ट्रेलिया के कई हिस्सों में भीषण गर्मी और बाढ़ का कहर जारी है। प्राप्त जानकारी के अनुसार ऑस्ट्रेलिया में जहां कई स्थानों पर लोगों का सूरज की तेज  गर्मी से हाल बेहाल है वहीं यहां जानवरों और जीव जंतुओं पर भी इसका प्रकोप बरस रहा है। उत्तरी क्षेत्र के सेंट्रल लैंड काउंसिल (सीएलसी) के अनुसार भीषण गर्मी के चलते यहां 90 जंगली घोड़ों की जान जा चुकी है। एक रिपोर्ट के मुता‎बिक ऐलिस स्प्रिंग्स के पास एक सूखे हुए तालाब में 50 लापता घोड़े मृत मिले जबकि लगभग 40 घोड़े निर्जलीकरण और भुखमरी के चलते ही दम तोड़ चुके थे, इसलिए बाद में बचे घोड़ों को छोड़ दिया गया। सीएलसी के निदेशक डेविड रोस के अनुसार प्यास के कारण मर रहे 120 जंगली घोड़े, गधे और ऊंट को किसी दूसरे जगह पर शिफ्ट ‎किया गया। ऑस्ट्रेलिया के मौसम विभाग का कहना है कि ऐलिस स्प्रिंग्स में तापमान 42 डिग्री सेल्सियस से ऊपर रहा जो जनवरी के औसत तापमान से छह डिग्री अधिक है। कई अन्य वन्यजीव प्रजातियों को भी गर्मी के चलते काफी नुकसान उठाना पड़ा है। न्यू साउथ वेल्स में गर्मी सहन नहीं कर पाने के चलते कई चमगादड़ मर गए। सूखे से प्रभावित इलाकों में नदियों के किनारे लाखों मछलियां भी मृत पाई गई । स्थानीय मीडिया का कहना है कि ऑस्ट्रेलिया में यह रिकॉर्ड तोड़ गर्मी है।